राष्ट्रीय

अखिलेश यादव बोले कांग्रेस-बसपा कमजोर सहयोगी, 2022 में गठबंधन से अलग योगी को देंगे अकेले टक्कर

Janjwar Desk
23 Jun 2021 12:22 PM GMT
अखिलेश यादव बोले कांग्रेस-बसपा कमजोर सहयोगी, 2022 में गठबंधन से अलग योगी को देंगे अकेले टक्कर
x

2022 चुनावों के लिए अखिलेश ने छेड़ दिया है एकला चलो रे का राग

अखिलेश बोले जल्द ही दोबारा यूपी की सत्ता पर समाजवादी पार्टी विराजमान होगी, क्योंकि जनता बदलाव चाहती है, वह योगी सरकार से आजिज आ चुकी है...

लखनऊ, जनज्वार। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में कुछ ही महीने शेष रह गये हैं और सभी राजनीतिक दलों ने अपनी कमर कसनी शुरू कर दी है। भाजपा, कांग्रेस के बाद समाजवादी पार्टी में भी चुनावी सुगबुगाहट शुरू हो गयी है।

मिशन 2022 के मद्देनजर समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष और पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि वह अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव अपने दम पर लड़ेंगे, क्योंकि मायावती और कांग्रेस अच्‍छे सहयोगी नहीं हैं। हालांकि यह बात उन्होंने कांग्रेस और बसपा का नाम लिये बिना कही। मगर सभी इसी बात से परिचित हैं कि पिछली बार समाजवादी पार्टी ने कांग्रेस और बसपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था।

अखिलेश यादव ने एनडीटीवी से बातचीत में बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस से दोबारा गठबंधन से साफl-साफ इंकार करते हुए कहा कि बड़ी पार्टियों के साथ मेरा अनुभव अच्‍छा नहीं रहा है। हम उनके साथ नहीं, बल्कि छोटी पार्टियों के साथ गठबंधन करेंगे। यूपी की जनता अब बदलाव चाहती है, इसलिए अगले चुनावों में बीजेपी को हर हाल में हार का मुंह देखना पड़ेगा।

वहीं अखिलेश यादव ने यह भी दावा किया है कि बहुजन समाज पार्टी के कुछ नेता उनके संपर्क में हैं। समाजवादी पार्टी का लक्ष्य राज्‍य की 403 सीटों में से 300 सीटों पर विजय हासिल करने का है। जल्द ही दोबारा यूपी की सत्ता पर समाजवादी पार्टी विराजमान होगी, क्योंकि जनता बदलाव चाहती है और वह योगी सरकार से आजिज आ चुकी है।

गौरतलब है कि 2019 के लोकसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी ने मायावती की बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस के साथ चुनाव लड़ा था, बावजूद उसके भाजपा को राज्य से अच्छी खासी बढ़त मिली थी। अब कांग्रेस को लेकर अखिलेश यादव ने जिस तरह से कमेंट किया है, उससे लगता है कि कांग्रेस के साथ समाजवादी पार्टी का सबकुछ अच्छा नहीं चल रहा है, तभी तो अखिलेश ने कहा है कांग्रेस यूपी में बीजेपी को हराने के लिए बहुत कमजोर है। 2017 के चुनावों में हमारा कांग्रेस के साथ अच्‍छा अनुभव नहीं रहा। हमने उन्‍हें 100 से ज्‍यादा सीटें दीं, पर वे जीत हासिल करने में सफल नहीं रहे। यूपी की जनता ने कांग्रेस को रिजेक्‍ट कर दिया।

योगी आदित्‍यनाथ सरकार पर हमलावर होते हुए सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्र और यूपी की डबल इंजन सरकार अलग-अलग दिशाओं में जा रही है। कोरोना की दूसरी लहर में हुई मौतों को योगी सरकार छिपा रही है। वहीं खुद के कोरोना टीका लगवाने के सवाल पर यादव ने कहा कि इस साल दिवाली तक जब यूपी सरकार सभी लोगों को फ्री में टीका लगवा देगी, तब मैं भी वैक्‍सीन लगवा लूंगा।

Next Story

विविध

Share it