Top
बिहार

बिहार की 10 करोड़ की आबादी में सिर्फ 0.2 प्रतिशत की कोरोना जांच, लेकिन गिरिराज सिंह को कोई गम नहीं

Janjwar Desk
14 Jun 2020 2:30 PM GMT
बिहार की 10 करोड़ की आबादी में सिर्फ 0.2 प्रतिशत की कोरोना जांच, लेकिन गिरिराज सिंह को कोई गम नहीं
x
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बेगूसराय में रोज लगभग 40 टेस्ट किए जाने संबंधी ट्विट के बाद सवाल उठा कि बिहार और बेगूसराय में कोरोना जांच की स्थिति आखिर है कैसी?

जनज्वार ब्यूरो, पटना। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बेगूसराय में कोरोना जांच से संबंधित किए गए ट्विट के बाद यह सवाल उठ रहा है कि क्या इसे कोई उपलब्धि माना जा सकता है। लोग यह भी सवाल उठा रहे हैं कि बिहार में कोरोना जांच की स्थिति क्या है।

भारी संख्या में प्रवासियों के आने के बाद से बिहार में कोरोना संक्रमितों के आंकड़े में अचानक उछाल आ गया है। बिहार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए सरकारी आंकड़े के अनुसार 13 जून को रात्रि 10 बजे तक राज्य में कुल 6289 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। 13 जून को ही संध्या 4 बजे तक कुल 3686 मरीज ठीक हो चुके थे और 37 मरीजों की मौत हो चुकी है। अर्थात बिहार में अभी 2566 ऐक्टिव केस हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े के अनुसार ही बिहार में अबतक कुल 1 लाख 20 हजार 86 टेस्ट किए जा चुके हैं।

वर्ष 2011 में हुई पिछली जनगणना के अनुसार बिहार की कुल आबादी 10 करोड़ 40 लाख बताई जाती है। जानकर बताते हैं कि विगत 9 वर्षों में हुई अनुमानित वृद्धि को जोड़ दिया जाय तो यह आंकड़ा कमोबेश 12 करोड़ का हो जाता है।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्विट किया था 'बेगूसराय में कोरोना टेस्ट शुरू हो गए हैं, लगभग 40 टेस्ट हर दिन किए जा रहे हैं..जरूरत के हिसाब से जांच बढ़ाए भी जा सकते हैं।'

केंद्रीय मंत्री संभवतः बेगूसराय जिला में ही कोरोना जांच शुरू किए जाने और वहां हर दिन 40 टेस्ट किए जाने की जानकारी दे रहे थे। बिहार सरकार ने हाल में जिलों में ट्रुनेट मशीनों से कोरोना जांच की व्यवस्था शुरू की है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने विगत 5 जून को जानकारी दी थी कि राज्य में ऐसे 35 ट्रुनेट मशीन अधिष्ठापित किए जा चुके हैं एवं 22 मशीन स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने दावा किया था कि 15 जून तक 30 और ट्रुनेट मशीन लगा दिए जाएंगे। 5 जून को ही उन्होंने यह भी दावा किया था कि वर्तमान में लगभग 5 हजार जांच प्रतिदिन किए जाने की क्षमता विकसित कर ली गई है और 20 जून तक दस हजार जांच प्रतिदिन करने की क्षमता प्राप्त कर ली जाएगी।

बिहार के स्वास्थ्य विभाग के अधिकृत आंकड़ों पर गौर करें तो विगत एक सप्ताह में औसतन साढ़े तीन हजार से 4 हजार कोरोना जांच प्रतिदिन हुई है। 12 जून को बिहार में 3415 जांच हुई थी। 13 जून तक कुल 120086 जांच हो चुकी हैं।

बात अगर बेगूसराय की करें तो वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार बेगूसराय की कुल जनसंख्या 2970541 है। बेगूसराय लोकसभा क्षेत्र केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का क्षेत्र है। पिछले लोकसभा चुनाव में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के बेगूसराय से मैदान में आने के बाद यह क्षेत्र राष्ट्रीय स्तर पर चर्चाओं के केंद्र में आ गया था। वैसे बिहार सरकार इस बात का कोई अधिकृत आंकड़ा जारी नहीं करती है कि किस जिला में रोज कितनी जांच हुई है। राज्यस्तर पर यह आंकड़ा जारी होता है। वैसे कुछ जिलों में यदाकदा ये आंकड़े स्थानीय स्तर पर जारी भी किए जाते हैं। ऐसे में यह अनुमान लगा पाना मुश्किल है कि बेगूसराय में रोज या अबतक कुल कितनी जांच हुई है। लोगों का मानना है कि बेगूसराय की जनसँख्या को देखते हुए स्थानीय स्तर पर रोज 40 कोरोना जांच का किया जाना कोई उपलब्धि तो नहीं कही जा सकती। राज्य में कुल हो रही जांच का औसत निकाला जाए तो यह लगभग 100 प्रति जिला होता है। इसमें स्थानीय स्तर पर किए गए जांच का आंकड़ा भी शामिल है। वर्ष 2011 के जनसँख्या आंकड़ों के आधार पर अगर स्थानीय स्तर पर किए जाने वाले 40 जांच का प्रतिशत निकालें तो बेगूसराय में आंकड़ा 0.0013 निकलता है। यानी हर 1000 की आबादी पर 1.3 लोगों की जांच प्रतिदिन। स्थानीय लोग कहते हैं कि ऐसे में यह कोई उपलब्धि वाली बात तो है नहीं।

बेगूसराय में 13 जून तक 294 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं, जिनमें 244 स्वस्थ हो चुके हैं। 3 मरीजों की मृत्यु हो गई है और 47 ऐक्टिव केस हैं।

Next Story

विविध

Share it