दिल्ली

Delhi Assembly News: दिल्ली विधानसभा में स्पीकर का एक्शन, BJP विधायक ओपी शर्मा व विजेंद्र गुप्ता को मार्शल ने बाहर निकाला, ये है मामला

Janjwar Desk
29 March 2022 11:35 AM GMT
Delhi Assembly News: दिल्ली विधानसभा में स्पीकर का एक्शन, BJP विधायक ओपी शर्मा व विजेंद्र गुप्ता को मार्शल ने बाहर निकाला, ये है मामला
x

 दिल्ली विधानसभा में स्पीकर का एक्शन, BJP विधायक ओपी शर्मा व विजेंद्र गुप्ता को मार्शल ने बाहर निकाला, ये है मामला

Delhi Assembly News: दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) में हो रहे हंगामे के बीच आज सदन के स्पीकर ने बड़ा एक्शन लिया है.

Delhi Assembly News: दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) में हो रहे हंगामे के बीच आज सदन के स्पीकर ने बड़ा एक्शन लिया है. सदन से BJP विधायक ओपी शर्मा और विजेंद्र गुप्ता (OP Sharma and Vijender Gupta) को मार्शल (marshal) द्वारा बहार निकाला गया। बता दें कि BJP के दोनों विधायक सदन में हंगामा कर रहे थे जिस वजह से स्पीकर रामनिवास गोयल (Speaker Ram Niwas Goyal) ने मार्शल को आदेश देते हुए BJP के हंगामा कर रहे दोनों विधायकों को बहार निकालने को कहा।

बता दें कि जंगपुरा से विधायक प्रवीण कुमार ने विधानसभा में दिल्ली में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर मुद्दा उठाया था.इस मुद्दे ने तूल पकड़ा तो स्पीकर ने उपराज्यपाल और केंद्र पर दिल्ली विधानसभा को नपुंसक बनाने का आरोप लगाया। बीजेपी विधायकों ने स्पीकर की इस टिप्पणी पर हंगामा शुरू कर दिया।


AAP विधायक प्रवीण कुमार ने जंगपुरा में एक बच्चे की चाकू मारकर की गई हत्या का जिक्र कर केंद्रीय गृह मंत्री से सवाल किया कि इस मामले में क्या कार्रवाई की गई है। प्रवीण कुमार ने पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना पर भी आरोप लगाया और कहा कि उनकी जोइनिंग के बाद से दिल्ली में क्राइम की घटनाएं बढ़ गईं हैं।

इसपर स्पीकर ने कहा, "प्रवीण कुमार ने जो विषय उठाया है, वह काफी महत्वपूर्ण है. एलजी का 2018 का जो आदेश है, उसके अनुसार ऐसे विषय पर सदन को जवाब नहीं मिलते हैं। इस आदेश ने दिल्ली को बर्बाद करके छोड़ दिया है। किसी इलाके में चोरी होती है, डाका होता है, तो विधायक सवाल नहीं पूछ सकता, उसके जवाब नहीं मिलते हैं। ऐसे ही आदेश से अब चंडीगढ़ में भी IAS को अलग कर दिया है। इस मुद्दे पर सदन में चर्चा होनी चाहिए और ऊपर भेजा जाना चाहिए. एलजी और केंद्र के आदेश से दिल्ली विधानसभा को नपुंसक बनाया जा रहा है। ऐसा विधानसभा के इतिहास में कभी नहीं हुआ।"

Next Story