झारखंड

IAS Puja Singhal News : निलंबित IAS पूजा सिंघल को नहीं मिली राहत, जमानत के लिए 22 जून तक करना होगा इंतजार

Janjwar Desk
8 Jun 2022 10:33 AM GMT
IAS Puja Singhal News : निलंबित IAS पूजा सिंघल को नहीं मिली राहत, जमानत के लिए 22 जून तक करना होगा इंतजार
x

IAS Puja Singhal News : निलंबित IAS पूजा सिंघल को नहीं मिली राहत, जमानत के लिए 22 जून तक करना होगा इंतजार

IAS Puja Singhal News : ईडी कोर्ट ने पूजा सिंघल की न्यायिक हिरासत आगे बढ़ाने का फैसला लिया। अब उन्हें 22 जून तक जेल में रहना होगा।

IAS Puja Singhal News : झारखंड कैडर की निलंबित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल ( IAS Puja Singhal ) को कोर्ट ( ED Court ) से बुधवार को भी राहत नहीं मिली। वह न्यायिक हिरासत की अवधि पूरा होने पर बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रांची प्रवर्तन निदेशालय की विशेष कोर्ट (Ranchi ED Special Court) में पेश हुईं। ईडी कोर्ट ने पूजा सिंघल की न्यायिक हिरासत ( Judicial custody ) आगे बढ़ाने का फैसला लिया। फिलहाल, उन्हें दुबारा 14 दिनों के लिए जेल भेज दिया है।

ईडी ( ED ) के इस फैसले के बाद पूजा सिंघल ( Pooja Singhal )कम से कम 22 जून तक तो जेल में ही रहेंगी। उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए ईडी कोर्ट ने अगली तारीख 22 जून मुकर्रर की है।

मेडिकल जांच से सं​बंधित कामजात मुहैया कराने की मांग

भ्रष्टाचार के आरोप में जेल की सजा काट रही निलंबित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल प्रवर्तन निदेशालय के विशेष न्यायाधीश प्रभात कुमार शर्मा की अदालत में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश हुईं। इस दौरान ईडी की ओर से विशेष लोक अभियोजक बीएमपी सिंह और पूजा सिंघल के अधिवक्ता ने पक्ष रखा। अदालत के सामने पेशी के दौरान पूछे गए सवालों पर पूजा सिंघल ने बताया कि उन्हें जेल में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं है। ईडी से पूछताछ के दौरान मेडिकल जांच से संबंधित प्रिस्क्रिप्शन उपलब्ध कराने का आग्रह जरूर किया।

14 दिनों से हैं न्यायिक हिरासत में

IAS Puja Singhal News : भ्रष्टाचार मामले में जेल में बंद झारखंड कैडर की निलंबित आईएएस पूजा सिंघल ( suspended IAS Pooja Singhal ) को 11 मई को गिरफ्तार किया गया था। उन्हें 14 दिनों तक ईडी की रिमांड में पूछताछ के लिए रखने के बाद 25 मई से जेल में बंद हैं। इस मामले में उनके सीए सुमन कुमार भी 20 मई से जेल में बंद हैं।


(जनता की पत्रकारिता करते हुए जनज्वार लगातार निष्पक्ष और निर्भीक रह सका है तो इसका सारा श्रेय जनज्वार के पाठकों और दर्शकों को ही जाता है। हम उन मुद्दों की पड़ताल करते हैं जिनसे मुख्यधारा का मीडिया अक्सर मुँह चुराता दिखाई देता है। हम उन कहानियों को पाठक के सामने ले कर आते हैं जिन्हें खोजने और प्रस्तुत करने में समय लगाना पड़ता है, संसाधन जुटाने पड़ते हैं और साहस दिखाना पड़ता है क्योंकि तथ्यों से अपने पाठकों और व्यापक समाज को रू-ब-रू कराने के लिए हम कटिबद्ध हैं।

हमारे द्वारा उद्घाटित रिपोर्ट्स और कहानियाँ अक्सर बदलाव का सबब बनती रही है। साथ ही सरकार और सरकारी अधिकारियों को मजबूर करती रही हैं कि वे नागरिकों को उन सभी चीजों और सेवाओं को मुहैया करवाएं जिनकी उन्हें दरकार है। लाजिमी है कि इस तरह की जन-पत्रकारिता को जारी रखने के लिए हमें लगातार आपके मूल्यवान समर्थन और सहयोग की आवश्यकता है।

सहयोग राशि के रूप में आपके द्वारा बढ़ाया गया हर हाथ जनज्वार को अधिक साहस और वित्तीय सामर्थ्य देगा जिसका सीधा परिणाम यह होगा कि आपकी और आपके आस-पास रहने वाले लोगों की ज़िंदगी को प्रभावित करने वाली हर ख़बर और रिपोर्ट को सामने लाने में जनज्वार कभी पीछे नहीं रहेगा, इसलिए आगे आयें और जनज्वार को आर्थिक सहयोग दें।)

Next Story

विविध