राष्ट्रीय

मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी सुधाकर चतुर्वेदी का विवादित बयान: भारत किसी गांधी या टकले का नहीं, गांधी की जगह नाथूराम की लगाई जाए मूर्ति

Janjwar Desk
8 April 2022 5:45 PM GMT
मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी सुधाकर चतुर्वेदी का विवादित बयान: भारत किसी गांधी या टकले का नहीं, गांधी की जगह नाथूराम की लगाई जाए मूर्ति
x

मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी सुधाकर चतुर्वेदी का विवादित बयान: भारत किसी गांधी या टकले का नहीं, गांधी की जगह नाथूराम की लगाई जाए मूर्ति

Sudhakar Chaturvedi controversial statement on Mahatma Gandhi: महात्मा गांधी को लेकर कालीचरण के बाद पंडित सुधाकर चतुर्वेदी ने विवादित बयान दिया है. उत्तिष्ठ भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी पंडित सुधाकर चतुर्वेदी ने महात्मा गांधी पर अभद्र टिप्पणी की है.

Sudhakar Chaturvedi controversial statement on Mahatma Gandhi: महात्मा गांधी को लेकर कालीचरण के बाद पंडित सुधाकर चतुर्वेदी ने विवादित बयान दिया है. उत्तिष्ठ भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी पंडित सुधाकर चतुर्वेदी ने महात्मा गांधी पर अभद्र टिप्पणी की है. उन्होंने कहा कि देश क्रांतिकारियों का है. यह देश किसी गांधी या टकले का नहीं है. मोहनदास करमचंद गांधी से इस देश का कोई संबंध नहीं है, वह पाकिस्तान के राष्ट्रपिता है. 1947 से बेवजह रुपयों पर फोटो, देश के हजारों चौराहों पर प्रतिमा, हजारों रोड इनके नाम पर हैं.

सुधाकर चतुर्वेदी ने आव्हान किया है कि गांधी का जहां-जहां पुतला, वहां उसे हटाकर नाथूराम गोडसे का पुतला लगाया जाए. ग्वालियर कार्यालय के साथ ही देश भर के हिन्दू महासभा कार्यालय में गोडसे की मूर्तियां लगाई जाए. चौक चौराहों पर हो गोडसे की मूर्ति स्थापित की जाए. सुधाकर चतुर्वेदी दौलतगंज स्थित हिन्दू महासभा कार्यालय बैठक में शामिल होने पहुंचे थे. तब उन्होंने ऐसा बयान दिया है.

गोरखपुर मंदिर में हमले को लेकर मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी सुधाकर चतुर्वेदी ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर भी निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि जो मुख्यमंत्री अपना मठ नहीं बचा पा रहा है, अपना घर नहीं बचा पा रहा है, वह समाज को कैसे सुरक्षा दे पाएगा. यह सवाल खड़ा होता है. योगी के मठ में मुसलमानों की दुकानें यह कैसा हिंदूवाद है.

सुधाकर चतुर्वेदी ने कहा कि मुसलमान थूक लगाकर मिठाई बेच रहे हैं. थूक लगा लगाकर फूल बेच रहे हैं. यह सब गोरख जी के मठ पर चढ़ रहा है, मैं इसका विरोध करता हूं. मुसलमानों की जो दुकानें हैं, उन्हें मठ से हटाया जाए. देश में किसी भी मुसलमान का संतुलन ठीक नहीं है, उन पर पागलपन सवार हुआ है. यदि 100 करोड़ हिंदू देश का पागल हुआ, तो फिर सब कल्पना के बाहर होगा.

Next Story

विविध