Top
उत्तर प्रदेश

उमा भारती ने अयोध्या भूमि पूजन कार्यक्रम से बनाई दूरी, कह दी ये बड़ी बात

Janjwar Desk
3 Aug 2020 7:38 AM GMT
उमा भारती ने अयोध्या भूमि पूजन कार्यक्रम से बनाई दूरी, कह दी ये बड़ी बात
x
अयोध्या में राम मंदिर आंदोलन को धार देने वालीं और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कोरोना काल में अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए आने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए चिंता जताई है. उमा भारती (Uma Bharti) केंद्रीय मंत्री अमित शाह और यूपी के कई बीजेपी नेताओं के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद पीएम मोदी के लिए चितिंत हैं.

जनज्वार। अयोध्या में राम मंदिर आंदोलन को धार देने वालीं और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कोरोना काल में अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए आने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए चिंता जताई है. उमा भारती (Uma Bharti) केंद्रीय मंत्री अमित शाह और यूपी के कई बीजेपी नेताओं के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद पीएम मोदी के लिए चितिंत हैं.

साथ ही उन्होंने अयोध्या में कार्यक्रम स्थल पर मौजूद रहने वाले पीएम मोदी समेत अन्य लोगों से खुद को अलग रखने की बात कही है

उमा भारती ने ट्वीट करके कहा, 'कल जब से मैंने अमित शाह और यूपी के बीजेपी नेताओं के बारे में कोरोना पॉजिटिव होने का सुना तभी से मैं अयोध्या में मंदिर के शिलान्यास में उपस्थित लोगों के लिए खासकर नरेंद्र मोदी के लिए चिंतित हूं.' उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा, 'मै भोपाल से आज रवाना होऊंगी.

कल शाम अयोध्या पहुंचने तक मेरी किसी संक्रमित व्यक्ति से मुलाकात हो सकती हैं, ऐसी स्थिति में जहां नरेंद्र मोदी और सैकड़ों लोग उपस्थित हों मैं उस स्थान से दूरी रखूंगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सभी समूह के चले जाने के बाद ही मै रामलला के दर्शन करने जाऊंगी.'

इसके साथ ही उमा भारती ने जन्मभूमि ट्रस्ट और पीएमओ से राम मंदिर भूमिपूजन कार्यक्रम के लिए मौजूद लोगों को सूची में उनका नाम न देने की अपील की है. एक अन्य ट्वीट में उमा भारती ने कहा, 'यह सूचना मैंने अयोध्या में रामजन्मभूमिन्यास के वरिष्ठ अधिकारी और पीएमओ को भेज दी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शिलान्यास कार्यक्रम के समय उपस्थित समूह के सूची में से मेरा नाम अलग कर दें.'

इससे पहले रविवार को उमा भारती ने कहा था, 'कोरोना महामारी अपना विकराल रूप धारण करती जा रही है. ऐसी स्थिति में हम भले ही अयोध्या में हों किंतु शिलान्यास स्थल पर कौन लोग मौजूद होंगे, यह अंतिम घड़ी तक स्पष्ट नहीं हो सकता. जैसे नदियां समुद्र में समा जाती हैं, हम सब मोदीजी में समा गए हैं. उनकी शिलान्यास स्थल पर उपस्थिति ही हम सबकी उपस्थिति है.'

Next Story

विविध

Share it