Top
समाज

कोरोना वायरस के बाद अब चीन में हंता वायरस से एक व्यक्ति की हुई मौत

Vikash Rana
24 March 2020 10:04 AM GMT
कोरोना वायरस के बाद अब चीन में हंता वायरस से एक व्यक्ति की हुई मौत
x

चीन में हंता वायरस का यह मामला ऐसे समय पर आया है जब पूरी दुनिया वुहान से निकले कोरोन वायरस की महामारी से जूझ रही है। कोरोना वायरस से अब तक 16 हजार 500 लोगों की मौत हो गई है...

जनज्वार। कोरोना वायरस की मार झेल रहे चीन के यूनान प्रांत में एक व्यक्ति की सोमवार को हंता वायरस से मौत हो गई। पीड़ित व्यक्ति काम करने के लिए बस से शांडोंग प्रांत लौट रहा था। उसे हंता वायरस से पॉाजिटिव पाया गया था। बस में सवार 32 अन्य लोगों की भी जांच की गई है। चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स के इस घटना के बाद दुनिया समेत सोशल मीडिया पर बवाल मच गया है।

कोरोना जैसी भयकर महामारी के बाद लोग बड़ी संख्या में इस वायरस से डरे हुए हैं। लोगों सोशल मीडिया में ट्वीट करते हुए कह रहे हैं कि कोरोना की तरह हंता वायरस भी महामारी ना बन जाए। वायरस पर ट्वीट करते हुए अमित लिखते हैं कि कोरोनावायरस भी चीन से फैली हुई महामारी थी और अब हंता वायरस ये वायरस भी दुनिया में काफी जल्दी फैलेगा। वहीं ट्वीट करते हुए हिमांशु लिखते हैं, चीन से एक और महामारी फैलने वाली है।

संबंधित खबर: पंजाब में कोरोना कर्फ्यू जारी, हरियाणा में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर होगी 6 माह की सजा

हंता वायरस मुख्यता चूहे और गिलहरी के संपर्क में इंसान के आने से फैलता है। विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस की तरह हंता वायरस ज्यादा घातक नहीं है। कोरोना के विपरीत यह हवा के रास्ते नहीं फैलता है। ब्लकि ये वायरस चूहे और गिलहरी के संपर्क में आने से फैलता है। सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक चूहों के घर के अंदर और बाहर करने से हंता वायरस के संक्रमण का खतरा रहता है।

हां तक कि अगर कोई स्वस्थ व्यक्ति भी है और वह हंता वायरसके संपर्क में आता है तो उसके संक्रमित होने का खतरा रहता है। वहीं सीडीसी का ये भी मानना है कि हंता वायरस जानलेवा भी हो सकता है। बता दे हंता से संक्रमित व्यक्तियों के मरने का आंकड़ा 38 प्रतिशत है।

हालांकि हंता वायरस एक व्‍यक्ति से दूसरे व्‍यक्ति में नहीं जाता है, लेकिन यदि कोई व्‍यक्ति चूहों के मल, पेशाब आदि को छूने के बाद अपनी आंख, नाक और मुंह को छूता है तो उसके हंता वायरस से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। इस वायरस से संक्रमित होने पर इंसान को बुखार, सिर दर्द, शरीर में दर्द, पेट में दर्द, उल्‍टी, डायरिया आदि हो जाता है। अगर इलाज में देरी होती है तो संक्रमित इंसान के फेफड़े में पानी भी भर जाता है, उसे सांस लेने में परेशानी होती है।

संबंधित खबर: कोरोना के चलते जेलों से छूटेंगे 7 साल से कम की सजा वाले कैदी, सुप्रीम कोर्ट का आदेश

चीन में हंता वायरस का यह मामला ऐसे समय पर आया है जब पूरी दुनिया वुहान से निकले कोरोन वायरस की महामारी से जूझ रही है। कोरोना वायरस से अब तक 16 हजार 500 लोगों की मौत हो गई है। यही नहीं अब ततक दुनिया के 382,824 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। कोरोना वायरस की व्यापकता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यह वायरस अब भारत, यूरोप समेत पूरी दुनिया में फैल चुका है।

Next Story

विविध

Share it