Top
बिहार

बिहार में कोरोना के बाद बरपा प्रकृति का कहर, वज्रपात से 9 की मौत

Nirmal kant
6 May 2020 1:30 AM GMT
बिहार में कोरोना के बाद बरपा प्रकृति का कहर, वज्रपात से 9 की मौत
x

शुरुआती छानबीन के बाद पुलिस ने बताया कि पटना में तीन, जहानाबाद में दो, नालंदा, जमुई, बांका और समस्तीपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार के कई जिलों में मंगलवार 5 मई को मौसम अचानक बदल गया। बारिश के बीच आसमानी बिजली गिरने यानी वज्रपात होने से 9 लोगों की मौत हो गई और आधा दर्जन से ज्यादा लोग झुलस गए हैं।शुरुआती छानबीन के बाद पुलिस ने बताया कि पटना में तीन, जहानाबाद में दो, नालंदा, जमुई, बांका और समस्तीपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई।

टना के दुल्हिन बाजार थाना क्षेत्र के फतेहपुर गांव में वज्रपात से एक किशोर समेत दो लोगों की मौत हो गई। फतेहपुर गांव में तेज बारिश के साथ वज्रपात हुआ, जिसकी चपेट में आकर मोहम्मद दानिश (15) और कमलेश यादव (40) की मौत हो गई।

जिले के बाढ़ थाना क्षेत्र के सादिकपुर गांव निवासी विकास कुमार (27) अपने बगीचे की रखवाली कर रहा था, तभी वज्रपात हुआ, जिससे विकास की मौत हो गई।

संबंधित खबर : विरोध के बाद संभले नीतीश कुमार, बोले छात्रों, मजदूरों के ट्रेन का किराया देगी राज्य सरकार

सके अलावा जहानाबाद के घोसी थाना क्षेत्र के डहरपुर गांव निवासी दामोदर यादव (30) खेत में काम कर रहे थे, तभी आसमानी बिजली गिरने से उसकी मौत हो गई। इसी जिले में मखदूमपुर थाना क्षेत्र के नेवारी गांव निवासी अनुज कुमार (20) की वज्रपात की चपेट में आने से मौत हो गई।

मंगवार को सबसे अधिक 47 मिलीमीटर बारिश भागलपुर में हुई। इसके अलावा पटना में 21, गया में 13 और पूर्णिया में 34 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इन जगहों पर आधी भी चली। उधर, बारिश के कारण पटना सहित राज्य के विभिन्न हिस्सों में दिन के तापमान में तीन से चार डिग्री तक गिरावट आई है। पटना का तापमान 32, गया का 31.8, भागलपुर का 30.4 और पूर्णिया का 31.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग ने अलर्ट किया है कि बुधवार को भी पटना सहित राज्य के कई हिस्सों में बारिश हो सकती है। ठनका भी गिर सकता है। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन के कारण बारिश की संभावना बनी है। यह साइक्लोनिक सर्कुलेशन पश्चिम में सारण, बक्सर, भोजपुर से पटना, वैशाली, समस्तीपुर, सहरसा,खगड़िया, बेगूसराय, मधेपुरा पूर्णिया और अररिया होते हुए किशनगंज तक गया, जिससे इन जिलों में झमाझम बारिश हुई। तेज हवा चली। आम और लीची की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है

Next Story

विविध

Share it