Top
बिहार

विरोध के बाद संभले नीतीश कुमार, बोले छात्रों, मजदूरों के ट्रेन का किराया देगी राज्य सरकार

Nirmal kant
4 May 2020 11:42 AM GMT
विरोध के बाद संभले नीतीश कुमार, बोले छात्रों, मजदूरों के ट्रेन का किराया देगी राज्य सरकार
x

File photo

नीतीश ने केंद्र सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा- हम लोगों की मांग 'प्रारंभ से ही' थी कि बाहर फंसे लोगों को ट्रेनों से ही लाया जा सकता है। केंद्र सरकार ने हमारा सुझाव माना...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। दूसरे राज्यों से आने वाले छात्रों और मजदूरों से ट्रेन किराया वसूलने के विवाद के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को स्पष्ट किया कि आने वाले छात्रों और मजदूरों से किराया नहीं वसूला जा रहा है, किराया राज्य सरकार वहन करेगी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को एक वीडियो संदेश जारी कर कहा, 'बाहर से आने वाले छात्रों को किसी प्रकार का किराया नहीं देना है। किराया बिहार सरकार वहन कर रही है।'

संबंधित खबर : सकारात्मक पहल- क्वारंटाइन सेंटर में मजदूरों ने कर दिया स्कूल का कायाकल्प

नीतीश ने अपने संदेश में केंद्र सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा, 'हमलोगों की मांग प्रारंभ से ही थी कि बाहर फंसे लोगों को ट्रेनों से ही लाया जा सकता है। केंद्र सरकार ने हमारा सुझाव माना।'

मुख्यमंत्री ने मजदूरों का जिक्र करते हुए कहा कि बिहार के जो भी लोग बाहर से आ रहे हैं, और वे जिस स्टेशन पर आएंगे, वहां से उन्हें प्रखंड मुख्यालय तक ले जाया जाएगा। स्टेशनों पर उनके लिए व्यवस्था की गई है।

कहा कि बाहर से आए छात्र-मजदूर 21 दिन बाद क्वारंटीन सेंटर से जब जाने लगेंगे तो उन्हें आने में होने वाले खर्च वहन के तौर पर तय न्यूनतम राशि 1000 रुपये और उसके अलावा 500 रुपये अलग से देकर विदा किया जाएगा।

संबंधित खबर : नीतीश सरकार का प्रवासी मजदूरों को साफ संदेश, जो लोग ट्रेन से आएं अपनी जेब से भरें टिकट का पैसा

कोरोना से भयभीत नहीं होने, बल्कि सजग रहने की अपील करते हुए नीतीश ने लोगों से कहा, 'हमारी सरकार का विश्वास काम करने में है और हमलोग काम कर रहे हैं।' उन्होंने दावा करते हुए कहा कि बिहार में ज्यादा परेशानी नहीं है, यहां के लोगों में जागरूकता है, जिस कारण कोरानावायरस का कम प्रभाव पड़ा है।

Next Story

विविध

Share it