Top
सिक्योरिटी

मालवीय नगर अग्निकांड मामले में गोदाम मालिक गिरफ्तार, रिहायशी इलाके में चला रहा था अवैध धंधा

Janjwar Team
30 May 2018 6:46 PM GMT
मालवीय नगर अग्निकांड मामले में गोदाम मालिक गिरफ्तार, रिहायशी इलाके में चला रहा था अवैध धंधा
x

संजय सैनी के पास रिहायशी इलाके में गोदाम के लिए न तो एमसीडी की परमिशन थी और न ही गोदाम में आग बुझाने के लिए किसी तरह का कोई इंतजाम...

दिल्ली, जनज्वार। दिल्ली के मालवीय नगर इलाके में कल शाम 5 बजे के आसपास एक रबर गोदाम में लगी आग पर बड़ी मुश्किल से दूसरे दिन तकरीबन 16 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद काबू पाया जा सका। आग इतनी बेकाबू हो गई थी कि उसे बुझाने के लिए 80 फायरब्रिगेड की गाड़ियां भी बेअसर रहीं।

स्थिति नियंत्रण में न होते देख दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने आग बुझाने के लिए एयरफ़ोर्स से मदद मांगी, जिसके बाद आग पर काबू पाया गया। इसके बाद अगली कार्रवाई करते हुए पुलिस ने गोदाम मालिक संजय सैनी को गिरफ्तार किया है।

शुरुआती जांच में सामने आया है कि संजय सैनी के पास रिहायशी इलाके में गोदाम के लिए न तो एमसीडी की परमिशन थी और न ही गोदाम में आग बुझाने के लिए किसी तरह का कोई इंतजाम ही था। हालांकि पुलिस इस मामले में यह कहते हुए अपना पल्ला झाड़ लेगी कि हम गोदाम मालिक पर कार्रवाई करेंगे।

मगर असल सवाल यह है कि जिस पुलिस को कहीं भी होने वाले किसी भी तरह के निर्माण, व्यापार सबका पता होता है, उसे इतने बड़े गोदाम का पता क्यों नहीं चल पाया। अगर गोदाम मालिक के खिलाफ पहले ही कार्रवाई की गई होती तो आज इतनी बड़ी घटना नहीं घटी होती।

वो तो शुक्र मनाइये कि घटना के वक्त पास में मौजूद स्कूल और जिम बंद थे, उसके अलावा जिस बिल्डिंग को आग ने अपने आगोश में लिया वह भी खाली थी, नहीं तो भारी पैमाने पर जान माल की भी हानि होती।

दिल्‍ली के रबर गोदाम में लगी भीषण आग अभी भी बेकाबू, मदद के लिए पहुंची एयरफोर्स

आग की भयावहता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 5 किलोमीटर दूर नेहरू प्लेस और ग्रेटर कैलाश से भी आग की लपटें और काला धुआं साफ साफ दिखाई दे रहा था। इसीलिए जब एयरफोर्स ने अपना आॅपरेशन शुरू किया तो आसपास की तकरीबन 15 बिल्डिंगों को खाली करवाया गया। अभी तक आग का धुआं गोदाम के आसपास मौजूद लोगों के लिए मुश्किलें खड़ी कर रहा है। लोग ठीक से सांस नहीं ले पा रहे हैं।

शुरुआती छानबीन में यह भी सामने आया कि शुरुआती छानबीन में सामने आया है कि आग के तेजी से फैलने की बड़ी वजह गोदाम में रखे केमिकल और रबर के ड्रम रहे, जिन्होंने हवा चलने के साथ और भयावह रूप अख्तियार कर लिया। रात में प्रशासन ने केमिकल के ड्रमों को बाहर निकलवाया था।

आग से कितनी संपत्ति को नुकसान पहुंचा है, इसका अभी अंदाजा नहीं लगाया गया है, मगर कहा जा रहा है कि संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचा है।

Next Story

विविध

Share it