Top
आंदोलन

राजसमंद में लव जेहाद के नाम पर की गई नृशंस हत्या की जन संगठनों ने की भर्त्सना

Janjwar Team
8 Dec 2017 11:37 PM GMT
राजसमंद में लव जेहाद के नाम पर की गई नृशंस हत्या की जन संगठनों ने की भर्त्सना
x

कल 9 दिसंबर को दिल्ली के पंडारा रोड स्थित बीकानेर हाउस पर 12 बजे से प्रदर्शन तो कनॉट प्लेस स्थित सेंट्रल पार्क के बाहर शाम 3 से 6 बजे...

लखीमपुर खीरी। राजस्थान के राजसमंद में लव जेहाद के नाम पर हत्या की विभिन्न सामाजिक संगठनों ने निंदा की। सामाजिक संगठनों ने मांग की कि वसुंधरा सरकार के राज में इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया गया है, इसलिए उन्हें तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए।

सामाजिक संगठन भगत सिंह-अम्बेडकर विचार मंच के संयोजक मुश्ताक अली अन्सारी ने कहा कि राजस्थान के राजसमंद में लव जेहाद के नाम पर जलाकर हत्या ने इंसानियत को शर्मसार कर दिया है। हत्यारों ने साम्प्रदायिक संगठनों से प्रेरित होकर ही हत्याकाण्ड को अंजाम दिया है। यह हत्या साम्प्रदायिक नफरती प्रचारकों की देन है।

मूल निवासी संघ के प्रदेश अध्यक्ष रामकुमार ने कहा कि पिछले तीन सालों से लगातार मुस्लिम विरोधी नफरत संघ परिवार द्वारा फैलाई जा रही है, जिस कारण आये दिन गौरक्षा और लव जेहाद के नाम पर अल्पसंख्यकों की बर्बरतापूर्वक हत्याऐं की जा रही हैं।

सद्भावना के नाजिर अली ने कहा कि वसुंधरा सरकार भगवा आतंकी को सिरफिरा बताकर घटना से साम्प्रदायिक संगठनों की भूमिका की जाँच से बचना चाह रही है। वसुंधरा सरकार कानून व्यवस्था कायम रखने में फेल हो चुकी है, उन्हें इस्तीफा देना चाहिए राजस्थान में मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा रोकी जाये।

सभी ने एकस्वर से हत्याकाण्ड की निंदा करते हुए साम्प्रदायिक संगठनों की भूमिका की जाँच की मांग की।

एडवोकेट अशरफ अली एवं एडवोकेट सुरेन्द्र कुमार ने केन्द्र सरकार से अल्पसंख्यक सुरक्षा कानून बनाने की मांग की है।

Next Story

विविध

Share it