Top
संस्कृति

संस्कारी लोगो! सेरेना विलियम्स को गाली दीजिए, आपके हिसाब से वह छिनाल हुई न!

Janjwar Team
20 Nov 2017 4:15 PM GMT
संस्कारी लोगो! सेरेना विलियम्स को गाली दीजिए, आपके हिसाब से वह छिनाल हुई न!
x

इस महान खिलाड़ी को बदचलन, छिनाल और संस्कारहीन कहेंगे, बल्कि सवाल ये है कि बदचलनी का सर्टिफिकेट उस महान भारतीय भूमि के अतुलनीय संस्कारों से देंगे, जिस भूमि पर पैदा हुए 97 फीसदी बलात्कारी, औरतों के अत्याचारी घरों, पड़ोस और रिश्तेदारियों में रहते हैं...

जनज्वार। बंद कराएं सेरेना विलियम्स को जनरल नॉलेज में पढ़वाना, धरना प्रदर्शन कीजिए कि क्यों छपती हैं वह भारत के अखबारों में, दो—चार थाने फूंक डालिए कि देश की लाखों लड़के—लड़कियों की आदर्श है, क्योंकि उसने वह किया है जिसको करने के बाद हमारे समाज खासकर भारतीय समाज के पास दो ही शब्द हैं, एक छिनाल और दूसरा बदचलन।

आश्चर्यजनक ये नहीं कि आप इस महान खिलाड़ी को बदचलन, छिनाल और संस्कारहीन कहेंगे, बल्कि सवाल ये है कि बदचलनी का सर्टिफिकेट उस महान भारतीय भूमि के अतुलनीय संस्कारों से देंगे, जिस भूमि पर पैदा हुए 97 फीसदी बलात्कारी, औरतों के अत्याचारी घरों, पड़ोस और रिश्तेदारियों में रहते हैं।

गौरतलब है कि दुनिया की दिग्गज टेनिस स्टार सेरेना विलियम्स ने 16 नवंबर को अपने पुरुष मित्र एलेक्सिस ओहेनियन से शादी की है। दो साल से भी ज्यादा समय तक सहजीवन में रहने के बाद एलेक्सिस और सेरेना ने शादी का निर्णय लिया।

गौर करने वाली बात यह है कि 21 बार की ग्रैंड स्लेम चैंपियन सेरेना ने इसी साल एक बेटी को जन्म दिया है। बच्ची उनकी शादी से पहले पैदा हुई है। तो हुई ना वो बदचलन हमारे समाज की नजरों में, क्योंकि हमारा समाज तो शादी से पहले वर्जिन कन्या की चाहत रखता है और इस सेलिब्रेटी ने तो शादी से पहले ही बेटी को जन्म दे दिया है। बेटी भी मां—पिता की शादी में मौजूद रहीं।

सेरेना और रेडिट के सह संस्थापक ओहेनियन ने पिछले साल शादी का निर्णय लिया था, जिसके बाद सगाई की थी। सेरेना और उनसे 2 साल छोटे उनके ब्यावफ्रेंड एलेक्सिस की शादी न्यू ऑर्लियंस शहर में हुई थी, जिसमें करीब 250 वीआईपी सेलिब्रेटी मेहमान उनकी वीआईपी शादी के गवाह बने।

हालांकि सेरेना पहली ऐसी सेलिब्रेटी नहीं हैं, जो कुंवारी मां बनीं, एक लंबा सिलसिला रहा है सेलिब्रेटीज का कुंवारी मां बनने का। मगर असल सवाल है कि एक आम लड़की के साथ कैसा सुलूक करता हमारा समाज इस स्थिति में।

मगर यहां एक सवाल यह भी उठता है कि अगर सेरेना बजाय टेनिस दिवा के एक आम लड़की होतीं तो क्या वो कुंवारी मां बनने की अपनी चाहत पूरी कर पातीं। ये समाज जिंदा रहने देना उन्हें और उनकी बेटी को। या फिर उन सेलिब्रेटीज का भी जीने का अधिकार नहीं छीन लेता यह समाज, जिन्होंने उसकी नजरों में कुंवारी मां बनने का घृणित पाप किया है।

वर्ष 2002 से 2017 के बीच 8 बार दुनिया की नंबर वन टेनिस प्लेयर रहीं 37 वर्षी सेरेना ने टेनिस की दुनिया में वो शोहरत हासिल की है, जिसे पाने के लिए कड़ी मेहनत और लगन की जरूरत पड़ती है। सबसे ज्यादा ग्रैंड स्लैम जीतने वाली सेरेना ने डबल और सिंगल मिलाकर कुल 39 ग्रैंड स्लैम अपने नाम किए हैं।

Next Story

विविध

Share it