Top
राजनीति

ट्वीटर पर सांप्रदायिकता फैलाने के आरोप में पश्चिम बंगाल पुलिस ने भाजपा सांसद अर्जुन सिंह पर दर्ज की FIR

Janjwar Desk
3 Sep 2020 4:53 PM GMT
ट्वीटर पर सांप्रदायिकता फैलाने के आरोप में पश्चिम बंगाल पुलिस ने भाजपा सांसद अर्जुन सिंह पर दर्ज की FIR
x

गोल घेरे में सोशल मीडिया पर सांप्रदायिकता फैलाने के लिए आरोपित भाजपा सांसद अर्जुन सिंह (photo : social media)

BJP सांसद अर्जुन सिंह ने ट्वीट किया था,'एक विशेष धार्मिक समूह' ने पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद क्षेत्र में देवी काली के एक मंदिर को नष्ट कर दिया था और मंदिर में मूर्ति को जला दिया...

जनज्वार। भाजपा नेता अकसर सांप्रदायिक ​टीका-टिप्पणियों के लिये सोशल मीडिया पर छाये रहते हैं। खासकर धर्म विशेष के प्रति नफरत फैलाने वाली टिप्पणियां फैलाकर वो समाज में जहर फैलाने का काम करते हैं। अब एक बार फिर एक भाजपा नेता नफरती पोस्ट को लेकर चर्चा में है और इसे लेकर पुलिस ने उस पर मुकदमा भी दर्ज किया है।

पश्चिम बंगाल पुलिस ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद अर्जुन सिंह पर सोशल मीडिया पर सांप्रदायिकता फैलाने के लिए मुकदमा दर्ज किया है। पश्चिम बंगाल पुलिस ने अर्जुन सिंह पर धारा 501/504/505(2)/295A/34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया है।


गौरतलब है कि भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने मंगलवार 1 सितंबर को एक ट्वीट साझा किया था, जिसमें दावा किया गया कि 'एक विशेष धार्मिक समूह' ने पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद क्षेत्र में देवी काली के एक मंदिर को नष्ट कर दिया था और मंदिर में मूर्ति को जला दिया। उन्होंने ट्वीट में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की राजनीति का "जिहादी स्वभाव" भी बताया।

भाजपा सांसद अर्जुन सिंह अपनी बात पर सोशल मीडिया पर तब भी कायम रहे, जबकि मुर्शिदाबाद स्थित काली मंदिर के प्रबंधन ने इस बात को खारिज कर दिया कि मुस्लिमों ने काली मंदिर को नष्ट किया है।


आलमपुर काली मां निमतला काली मंदिर के सचिव शुकदेव बाजपेयी ने कहा कि इस घटना का कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं था। यह किसी भी प्रकार की दुर्घटना हो सकती है, क्योंकि मंदिर के ताले नहीं टूटे हैं।

शुकदेव बाजपेयी ने कहा कि इस इलाके में हिंदू और मुस्लिम दोनों धर्म के लोग शांतिपूर्वक और प्रेमपूर्ण तरीके से एक दूसरे के साथ रहते हैं। कभी किसी बात पर कोई बवाल भी नहीं है। हां, कुछ लोग अपने राजनीतिक फायदे के लिए इसे सांप्रदायिक एंगल दे रहे हैं।


दूसरी तरफ मुर्शिदाबाद पुलिस ने भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि यह दुर्घटना थी। कृपया बिना तथ्यों को व्यक्तिगत रूप से सत्यापित किए ट्वीट को साझा न करें। इसीलिए उन पर एफआईआर दर्ज ​की गयी है।

एफआईआर दर्ज होने के बाद भी भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने एक के बाद एक कई ट्वीट किये हैं जिनमें वे धर्म विशेष और ममता सरकार पर आरोपों की झड़ी लगा रहे हैं।


एफआईआर दर्ज होने के बाद अर्जुन सिंह ने ट्वीट किया है, जिसमें वो धर्म के नाम पर लोगों से एकजुट होने का आह्वान कर रहे हैं, 'मुझे सूचित किया गया है कि मेरे खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की गई है, मैं किसी भी केंद्रीय टीम से जाँच के लिए तैयार हूँ। मैं बंगाल के हिंदुओं की आस्था की प्रतीक माँ काली का अपमान होते नहीं देख सकता, कोई हिंदू बर्दाश्त नहीं कर सकता। मैं सबसे इस घटना पर विरोध जताने का अनुरोध करता हूँ।'


एक अन्य ट्वीट में एक वीडियो शेयर करते हुए अर्जुन सिंह ने लिखा है, दीदी और उनकी पुलिस भले एफआईआर दर्ज करे और कहीं से झूठी-सच्ची चिट्ठी लाये। तस्वीरें झूठ नहीं बोलतीं। देखिये कायरों की हरकत कि मंदिर पर बम फेंके। ये तो कृपा है कि माता का मंदिर सुरक्षित है। बहुत हुआ अत्याचार, अब होगा पलटवार।'


सांसद अर्जुन सिंह ने अपने एक ट्वीट में लिखा है, 'मेरे घर पर तो बम फेंके तो फेंके। मेरे घर के बाहर माँ शीतला के मंदिर पर भी हमला हुआ। जिहादियों का सपना है कि बंगाल हिन्दू मुक्त हो, लेकिन याद रखिये कि यदि हिन्दू ने शस्त्र उठा लिए तो अखंड भारत बनाकर दम लेंगे। जय माँ काली।'

Next Story

विविध

Share it