Top
समाज

जयपुर की रईसजादियों ने गाड़ी से रौंदा बूढ़े मां बाप का इकलौता चिराग, पुलिस ने बिना मुकदमा दर्ज किये छोड़ा

Janjwar Desk
7 Nov 2020 9:11 AM GMT
जयपुर की रईसजादियों ने गाड़ी से रौंदा बूढ़े मां बाप का इकलौता चिराग, पुलिस ने बिना मुकदमा दर्ज किये छोड़ा
x

हादसे के बाद कार की हालत (photo : dainik Bhaskar)

जयपुर पुलिस ने आरोपी युवतियों को एफआईआर दर्ज किए बिना अपने रिश्तेदारों के साथ पुलिस स्टेशन से छोड़ने की अनुमति दे दी....

जनज्वार। राजस्थान की राजधानी जयपुर में कल 6 नवंबर की तड़के सुबह एक बार फिर रफ़्तार का कहर देखने को मिला है। जयपुर के सोडाला एलिवेटेड रोड पर तेज रफ्तार दौड़ रही ऑडी कार से एक युवक की टकराकर दर्दनाक मौत हो गई। गाड़ी में दो युवतियां बैठी हुईं थी और गाड़ी भी एक युवती ही ड्राइव कर रही थी, जिन्होंने युवक को पीछे से टक्कर मार दी। हादसा शुक्रवार की सुबह अजमेर रोड पर हुआ।

बताया जा रहा है कि हादसा इतना जबरदस्त था कि कार की टक्कर से युवक 30 फीट हवा में उछलकर एक घर की छत पर जाकर गिरा। टक्कर से उसका एक पैर कटकर अलग हो गया। साथ ही सिर टकराने से उसकी मौत हो गई। इसके बाद कार बेकाबू होकर पुलिया पर लगे एक खंभे से टकरा गई। यहां भी टक्कर इतनी तेज थी की खंभा उखड़कर पुलिया के नीचे जा गिरा। वो तो अच्छा रहा कि उस समय सड़क पर कोई था नहीं, वरना एक और हादसा हो जाता।

हादसे में मारे गए युवक का नाम मादाराम बताया जा रहा है। वह कांस्टेबल भर्ती परीक्षा देने पाली से जयपुर आया था। परीक्षा शुक्रवार सुबह 9 बजे होनी थी। युवक मिशन कम्पाउंड की तरफ से अजमेर रोड की तरफ जाने के लिए एलिवेटेड रोड से गुजर रहा था। लेकिन परीक्षा से करीब एक घंटे पहले तेज रफ्तार कार ने उसकी जान ले ली। बताया जा रहा है कि युवक अपने बुजुर्ग मां बाप का इकलौता सहारा था।

कार का एयर बैग खुलने से उसमे बैठी दोनों लड़कियों की जान बच गई। कार जाम होने के बाद वे बाहर आईं और घरवालों को फोन किया। जो लड़की कार चला रही थी वह 35 वर्षीय नेहा सोनी है। साथ बैठी उसकी फ्रेंड का नाम प्रज्ञा है। कार सोनी हॉस्पिटल के मालिकों के नाम पर रजिस्टर है। गाड़ी का नंबर RJ14 UN 5566 ऑडी Q7 है। बताया जा रहा है कि हादसे के बाद प्रज्ञा की तबीयत बिगड़ने की वजह से उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

जयपुर पुलिस ने आरोपी युवतियों को एफआईआर दर्ज किए बिना अपने रिश्तेदारों के साथ पुलिस स्टेशन से छोड़ने की अनुमति दे दी। पुलिस का कहना है कि मृतक युवक के रिश्तेदार अब तक पाली से नहीं पहुंचे हैं। उनके आने के बाद मामला दर्ज किया जाएगा।

100 की स्पीड से ऑडी दौड़ा रही लड़कियों ने युवक को इतनी जोरदार टक्कर मारी कि वह 30 फीट दूर मकान की छत पर जाकर गिरा और उसकी मौके पर ही मौत हो गयी।

आरोपी युवतियों में से एक का नाम नेहा सोनी है। नेहा सोनी डॉ बिमल सोनी की बहू हैं। ये वही डॉ बिमल सोनी हैं जिनका राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर क्रिकेट से गहरा नाता रहा है। वह भारतीय क्रिकेट टीम के मैनेजर भी रह चुके हैं। हालांकि ये उन्हीं बिमल सोनी की बहू नेहा है, इसका जनज्वार के पास कोई पुख्ता प्रमाण नहीं है।

Next Story
Share it