समाज

UP के कुशीनगर में पिता की मौत के बाद मां की हालत भी गंभीर, एक-एक रोटी के लिए तरस रहीं 5 बेटियां

Janjwar Desk
27 Jun 2021 10:07 AM GMT
UP के कुशीनगर में पिता की मौत के बाद मां की हालत भी गंभीर, एक-एक रोटी के लिए तरस रहीं 5 बेटियां
x

ठेला लगा कर परिवार खर्च चलाने वाले पिता की मौत के बाद मां भी बीमार हो गई.जिसके बाद बेटियों की हालत मुश्किल में है.

ओमप्रकाश की मौत के बाद परिवार पूरी तरह से बिखर गया है। घर में दो वक़्त की रोटी और मां के इलाज के पैसे न होने के वजह से बड़ी बेटी दुकान पर काम कर रही है। इससे वह पैसे से मां का इलाज करना और परिवार का खर्च चला रही हैं लेकिन इस मंहगाई में घर का खर्च चलना मुश्किल है...

जनज्वार, कुशीनगर। यूपी के कुशीनगर स्थित पडरौना शहर में ठेला लगाकर परिवार चलाने वाले शख्‍स की कोरोना महामारी के चलते मौत हो गई। पति की मौत के बाद पत्नी सदमे में आकर अपनी अंतिम सांसें गिन रही हैं। वहीं मृतक की पांच बेटियों पर मानो तो दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। परिवार को खाने के अलावा अभी तक किसी प्रकार की सरकारी सहायता नहीं मिली है।

बताया जा रहा है कि पडरौना शहर के कन्नौजिया वार्ड पूर्वी निवासी ओमप्रकाश शहर के सुभाष चौक पर ठेला लगा कर परिवार खर्च चलाते थे। बीते 23 अप्रैल को ओमप्रकाश को तेज बुखार और सर्दी की श‍िकायत हुई। इसके बाद 25 अप्रैल को कोविड-19 का जांच परिवार ने कराया। इसकी रिपोर्ट निगेटिव निकली लेकिन तबियत और बिगड़ती गई।

परिवार जांच से संतुष्‍ट नहीं था अलबत्ता दोबारा 27 अप्रैल को कोविड 19 की जांच हुई। इसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आने से परिवार में डर का माहौल बन गया। इसके बाद ओमप्रकाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान 28 अप्रैल को ओमप्रकाश की मृत्यु हो गई। उसके बाद बड़े भाई के बेटों ने आर्थिक मदद कर अंतिम संस्कार कराया।

ओमप्रकाश की मौत के बाद परिवार पूरी तरह से बिखर गया है। घर में दो वक़्त की रोटी और मां के इलाज के पैसे न होने के वजह से बड़ी बेटी दुकान पर काम कर रही है। इससे वह पैसे से मां का इलाज करना और परिवार का खर्च चला रही हैं लेकिन इस मंहगाई में घर का खर्च चलना मुश्किल है। मृतक के हिस्से में एक ही कोठरी है और उसी में पूरा परिवार रहता है।

मृतक की बड़ी बेटी प्रीति एमए, निशा एम ए अन्नू इंटर कर पढ़ाई छोड़ चुकी हैं। नीलम बीएससी और पिंकी बीकॉम कर रही है। पिता की मौत के बाद इन सब का पढ़ाई अब बंद हो गई है। अभी तक किसी शादी नहीं हुई है।

नगरपालिका अध्यक्ष विनय जायसवाल ने कहा क‍ि मृतक की लड़कियों की पढ़ाई में जो भी खर्च आएगा नगरपालिका उठाएगी और परिवार को खाद्यान के साथ-साथ अन्य सुव‍िधाएं मुहैया कराएगी और आर्थिक मदद कर मृतक पत्नी का इलाज कराया जाएगा।

Next Story

विविध

Share it