Up Election 2022

UP Election 2022 : हरदोई में नरेश अग्रवाल के बिगड़े बोल, कहा- अंग्रेजों ने इसलिए नहीं बनाई मुस्लिम रेजीमेंट

Janjwar Desk
13 Dec 2021 6:46 AM GMT
upchunav2022
x

(यूपी के हरदोई में दिया नरेश अग्रवाल ने विवादित बयान)

कुछ लोग लाल टोपी लगाकर घूमते हैं और कह रहे हैं कि क्रांतिकारी टोपी है, लेकिन यह टोपी खूनी है। इसमें एक विशेष कौम का खून लगा है, हिंदुस्तान के बहुमत का खून लगा है...

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) करीब आने के साथ विवादित बयानों का सामने आना बढ़ता ही जा रहा है। ताजा मामला पूर्व सांसद और बीजेपी नेता नरेश अग्रवाल (Naresh Agarwal) का है, जिन्होंने अल्पसंख्यकों को लेकर विवादित बयान दिया है।

दरअसल, जिले की सदर विधानसभा में रविवार 12 दिसंबर को क्षत्रिय समाज के प्रबुद्ध सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें बतौर टीफ गेस्ट शामिल हुए नरेश अग्रवाल ने कहा, 'हम लोग छांटेंगे कि हिंदुस्तान में किसको रहना है और किसे नहीं। याद रखना यह काम पीएम नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ ही कर सकते हैं। अयोध्या और काशी के बाद मथुरा भी हमारे एजेंडे में है।'

हरदोई स्थित पिहानी चुंगी के निकट दयानंद एंग्लो वैदिक कॉलेज में आयोजित सम्मेलन में पूर्व सांसद अग्रवाल ने अपने संबोधन में कहा, 'अंग्रेजों ने गोरखा, राजपूत, जाट रेजीमेंट बनाई। मुसलमान रेजीमेंट क्यों नहीं बनाई। उस समय तो हिंदुस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश एक साथ थे। इस पर कभी विचार किया गया?'

उन्होने कहा कि 'भोलेनाथ की नगरी को मस्जिद से बिल्कुल अलग कर दिया।' 'खबर आई है कि 2023 में भगवान राम को गर्भगृह में बैठाया जाएगा। काशी विश्वनाथ कॉरिडोर देख लो, प्रधानमंत्री ने भोलेनाथ की नगरी को उस मस्जिद से बिल्कुल अलग कर दिया और अब सिर्फ बाबा ही बाबा दिखाई देते हैं। अगर हिंदुस्तान में हमारे देवी देवता न स्थापित हो सके तो क्या पाकिस्तान में होंगे।'

लाल टोपी पर भी निशाना

सम्मेलन के दौरान भाजपा नेता नरेश अग्रवाल ने समाजवादी पार्टी की लाल टोपी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'कुछ लोग लाल टोपी लगाकर घूमते हैं और कह रहे हैं कि क्रांतिकारी टोपी है, लेकिन यह टोपी खूनी है। इसमें एक विशेष कौम का खून लगा है, हिंदुस्तान के बहुमत का खून लगा है।' उन्होंने पूछा कि भाजपा सरकार में कहीं दंगा हुआ, लखनऊ में कोशिश की गई तो योगी जी ने दंगाइयों के फोटो चौराहे पर लगवा दिए थे।

गन्ना और जिन्ना पर...

इसके अलावा स्थानीय मुद्दों को लेकर अग्रवाल ने कहा कि हम गन्ना किसानों की बात करते हैं, लेकिन सपा जिन्ना को याद करती है। 75 साल पहले जिन्ना को देश से फेंक दिया था। यह देश जिन्ना का नहीं हमारा-तुम्हारा है। भारत में रहना है तो हिंदुस्तान जिंदाबाद कहना होगा। इसके अलावा कुछ नहीं।


Next Story

विविध