Up Election 2022

UP Election 2022 : ' मथुरा को मुजफ्फरनगर न बनने दो', राकेश टिकैत की माहौल न बिगड़ने देने की अपील

Janjwar Desk
1 Jan 2022 8:26 AM GMT
राकेश टिकैत ने मथुरा में सांप्रदायिक माहौल न बिगड़ने देने की अपील की
x

राकेश​ टिकैत ने भाजपा सरकार पर वोट घोटाले का आरोप लगाया। 

UP Election 2022 : राकेश टिकैत ने मथुरा में लोगों को माहौल बिगाडने देने वालों की कोशिशों को विफल करने का आह्वान किया....

UP Election 2022 : उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कुछ महीनों का ही समय शेष है ऐसे में वोटों के ध्रुवीकरण की कोशिशें तेज हो गई हैं। राजनीतिक दलों की ओर से संवेदनशील मुद्दों को हवा दी जा रही है। पिछले दिनों अयोध्या और काशी का मुद्दा भी खूब जोर पकड़ा था। इस बीच किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने लोगों से इस संवेदनशील मुद्दे पर संयम बरतने की अपील की है। टिकैत पहले ही विधानसभा चुनाव लड़ने की बात से इनकार कर चुके हैं लेकिन वह संवेदनशील मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखने से नहीं चूक रहे हैं।

राकेश टिकैत ने मथुरा (Mathura) में लोगों को माहौल बिगाडने देने वालों की कोशिशों को विफल करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि मथुरा को किसी भी स्थिति में मुजफ्फरनगर न बनने दो। मुजफ्फरनगर की तरह मथुरा का माहौल खराब करने की कोशिशों को विफल करने का अनुरोध उन्होंने स्थानीय लोगों से किया।

टिकैत ने लोगों को आगाह किया कि कुछ लोग इस तीर्थ शहर की शांति भंग करने का प्रयास कर रहे हैं। यहां पर लोग शांति से पूजा पाठ कर कर रहे हैं। जीवन सामान्य है। उस स्थिति को बदलने का प्रयास किया जा रहा है।

किसान नेता ने आगे कहा कि लोगों को ऐसे तत्व जाल में फंसाने की कोशिश कर रहे हैं। वे मथुरा की स्थिति को खराब करना चाहते हैं। मुजफ्फरनगर की तरह मथुरा के माहौल को खराब करने की साजिशख चल रही है। उन्होंने कहा कि हमें किसी भी स्थिति मे मथुरा को मुजफ्फरनगर नहीं बनने देना है। ऐसे तत्वों से बचकर रहना है।

उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के जाल में मत पड़ो। अगर उनके जाल में फंसे तो यहां के लोग बेरोजगार हो जाएंगे। अशांति से रोजगार के अवसरों को झटका लगेगा।

राकेश टिकैत ने कहा कि लोगों को ऐसे तत्व जाल में फंसाने की कोशिश कर रहे हैं। वे मथुरा की स्थिति को खराब करना चाहते हैं। मुजफ्फरनगर की तरह मथुरा के माहौल को खराब करने की साजिश चल रही है। उन्होंने कहा कि हमें किसी भी स्थिति में मथुरा को मुजफ्फरनगर नहीं बनने देना है। ऐसे तत्वों से बचकर रहना है। उन्होंने कहा कि ऐसे लागों के जाल में मत पड़ो। अगर उनके जाल में फंसे तो यहां के लोग बेरोजगार हो जाएंगे। अशांति से रोजगार के अवसरों को झटका लगेगा। मथुरा भी दंगों की आग में जलने लगेगा।

Next Story

विविध