दुनिया

US : अमेरिकी उपराष्ट्रपति हैरिस ने हिंदू राष्ट्रवादी प्रधानमंत्री मोदी को दिया लोकतंत्र का लेक्चर

Janjwar Desk
24 Sep 2021 9:20 AM GMT
US : अमेरिकी उपराष्ट्रपति हैरिस ने हिंदू राष्ट्रवादी प्रधानमंत्री मोदी को दिया लोकतंत्र का लेक्चर
x

(प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस)

US : हैरिस ने कहा कि लोकतंत्रों की रक्षा करना दोनों देशों का कर्तव्य है और यह दोनों देशों के लोगों के हित में है...

US जनज्वार। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) इन दिनों अमेरिका के दौरे पर हैं। गुरुवार 23 सितंबर को उन्होंने अमेरिकी उप-राष्ट्रपति कमला हैरिस (Kamala Harris) के साथ पहली मुलाकात की। अमेरिका में जो बाइडेन की सरकार आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह पहला दौरा है। साल 2014 में सरकार में आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका का यह सातवां दौरा है।

गुरुवार को दोनों नेताओं ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान भारत-अमेरिका के बीच रणनीतिक साझेदारी, लोकतंत्र (Democracy), अफगानिस्तान संकट (Afghanistan Crisis) और हिंद-प्रशांत क्षेत्र (Indo Pacifice Region) के खतरों समेत वैश्विक मुद्दों पर चर्चा की गई।

अमेरिकी उपराष्ट्रपति हैरिस ने इस दौरान भारत के हिंदू राष्ट्रवादी प्रधानमंत्री (Hindu Nationalist Prime Minister) को लोकतंत्र (Democracy) पर भी लेक्चर दिया है। हैरिस ने कहा कि लोकतंत्रों की रक्षा करना दोनों देशों का कर्तव्य है और यह दोनों देशों के लोगों के हित में है।

लोकतांत्रिक सिद्धांतों और संस्थानों की करें रक्षा

हैरिस ने कहा कि चूंकि दुनियाभर के लोकतंत्र (Democracy) खतरे में हैं, इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि हम अपने देशों और दुनिया में लोकतांत्रिक सिद्धांतों और संस्थानों की रक्षा करें। हमें अपने देश में लोकतंत्रों को मजबूत करने के लिए जो करना चाहिए उसे बनाए रखें और यह देशों पर निर्भर करता है कि वे लोगों के हित में लोकतंत्रों की रक्षा करें।

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला (Harshvardhan Shringla) से जब पूछा गया कि प्रधानमंत्री से मुलाकात के दौरान क्या आतंकवाद (Terrorism) को लेकर पाकिस्तान (Pakistan) की भूमिका पर भी चर्चा की गई तो उन्होंने कहा कि जब आतंकवाद का मुद्दा आया तो उपराष्ट्रपति ने खुद इस मामले में पाकिस्तान (Pakistan) की भूमिका का उल्लेख किया था। श्रृंगला के मुताबिक हैरिस ने कहा कि पाकिस्तान में आतंकी समूह काम कर रहे थे।

श्रृंगला ने बताया कि उन्होंने पाकिस्तान से कार्रवाई करने के लिए कहा जिससे अमेरिका और भारत की सुरक्षा प्रभावित न हो। वह सीमापार आतंकवाद के तथ्य को लेकर प्रधानमंत्री से सहमत थीं और यह तथ्य है कि भारत कई दशकों से आतंकवाद (Terrorism) का शिकार रहा है और आतंकी समूहों के समर्थक के लिए पाकिस्तान पर नियंत्रण और बारीक निगाह की जरूरत है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या क्या कहा-

  • पीएम मोदी ने कहा कि कमला हैरिस का अमेरिका उपराष्ट्रपति बनना सभी के लिए गर्व की बात है। उन्होंने हैरिसको पूरी दुनिया के लिए प्रेरणा बताया।
  • जो बाइडेन के नेतृत्व में अमेरिका विकास की नई ऊंचाइयों को छुएगा और पूरी दुनिया को नई राह दिखाएगा।
  • अगर कमला हैरिस भारत आएंगी तो पूरा देश काफी महसूस करेगा और उनका स्वागत कर गर्व महसूस होगा।

भारतीय मीडिया में दोनों नेताओं के मुलाकात की चर्चा लेकिन -

भारतीय मीडिया और सोशल मीडिया पर जहां मोदी और हैरिस के मुलाकात पर चर्चा हो रही है। प्रधानमंत्री, प्रधानमंत्री कार्यालय, विदेश मंत्रालय आदि सबने मुलाकात की तस्वीरें पोस्ट की हैं और इस यात्रा को महत्वपूर्ण बताया है वहीं दूसरी ओर अमेरिकी उपराष्ट्रपति की ओर से अबतक इस मुलाकात को लेकर सोशल मीडिया पर एक भी पोस्ट नहीं की गई हैं। जबकि मोदी के बाद जिम्बावे के राष्ट्रपति से मुलाकात की फोटो वीडियो हैरिस ने पोस्ट किए हैं।

इसको लेकर भी प्रधानमंत्री मोदी की भारत में आलोचना हो रही है। खुद भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर पूछा - क्या उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने भी बैठक के बारे में ट्वीट किया? मैंने देखा कि उनकी बाद में अफ्रीकन से मुलाकात हुई, लेकिन जहां तक ​​मैंने देखा, उन्होंने मोदी की पिछली मुलाकात के बारे में कोई ट्वीट नहीं किया।

प्रिय नरेंद्र मोदी, आपका पद भारत की आन-बान और शान होता है। कल रात से आप और हमारे सरकारी हैंडल इन तस्वीरों को ट्वीट कर रहे हैं। लेकिन कमला हैरिस और वाइस प्रेसीडेंट ऑफिस बाक़ी तमाम ट्वीट कर रही हैं लेकिन उन्होंने इस मुलाक़ात की एक तस्वीर तक ट्वीट नहीं की है। ये अपमानजनक है। मर्यादा बनाए रखें।

एनएसयूआई के महासचिव रौशन लाल बिट्टू ने लिखा- यह देश के प्रधानमंत्री पद का अपमान है। एक छोटे से अफ्रीकन देश ज़ाम्बिया के राष्ट्रपति से मोदी के बाद मिली अमेरिकन उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ट्वीट कर दीं। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी से मुलाक़ात की कोई तस्वीर पोस्ट नहीं की, कम से कम अपना नहीं तो पद का सम्मान कीजिए मोदी जी।



Next Story

विविध