Top
दुनिया

US ने भारत को पाकिस्तान की श्रेणी में डाला, अपने नागरिकों से कहा आतंक, कोरोनाग्रस्त भारत न जाएं

Janjwar Desk
26 Aug 2020 9:26 AM GMT
US ने भारत को पाकिस्तान की श्रेणी में डाला, अपने नागरिकों से कहा आतंक, कोरोनाग्रस्त भारत न जाएं
x
फेडरेशन ऑफ एसोसिएशंस इन इंडियन टूरिज्म एंड हॉस्टिपटैलिटी ने सरकार इसे प्राथमिकता के आधार पर उठाए ताकि देश के बारे में बन रही नकारात्‍मक छवि को रोका जा सके। इस समय पर्यटन उद्योग कोरोना महामारी की वजह से गंभीर संकट से गुजर रहा है....

वॉशिंगटन। भारतीय विदेश मंत्रालय और खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के साथ मजबूत संबंधों का अबतक उदाहरण देते रहे हैं, लेकिन दूसरी ओर अमेरिका ने आतंकवाद, कोरोना संकट, अपराध का हवाला देकर भारत को रेटिंग 4 में डाल दिया है। रेटिंग 4 को सबसे खराब श्रेणी में माना जाता है। इसके साथ ही अपने नागरिकों भारत की यात्रा न करने के लिए एडवायजरी जारी की है। इसी श्रेणी में सीरिया, पाकिस्तान, ईरान, इराक और यमन को भी शामिल किया गया है।

अमेरिका ने कहा है कि भारत में कोरोना संकट है। इसके अलावा देश में अपराध और आतंकवाद में तेजी आई है, इसलिए अमेरिकी नागरिक भारत की यात्रा न करें। अमेरिका ने अपने अडवाइजरी की कुछ अन्‍य वजहों में महिलाओं के खिलाफ अपराध और उग्रवाद को भी कारण बताया है। उधर फेडरेशन ऑफ एसोसिएशंस इन इंडियन टूरिज्म एंड हॉस्टिपटैलिटी (FAITH) ने भारत सरकार से गुहार लगाई है कि वे अमेरिकी सरकार से ट्रेवल एडवाइजरी को बदलने के लिए दबाव बनाएं।

फेडरेशन ऑफ एसोसिएशंस इन इंडियन टूरिज्म एंड हॉस्टिपटैलिटी ने सरकार इसे प्राथमिकता के आधार पर उठाए ताकि देश के बारे में बन रही नकारात्‍मक छवि को रोका जा सके। इस समय पर्यटन उद्योग कोरोना महामारी की वजह से गंभीर संकट से गुजर रहा है और जल्‍द ही भारत में यह उद्योग फिर से अपने आपको शुरू करने जा रहा है। 23 अगस्‍त को जारी इस ट्रेवेल अडवाइजरी में भारत के अलावा पाकिस्‍तान, सीरिया, यमन, ईरान और इराक जैसे हिंसाग्रस्त देशों को शामिल किया गया है।

बता दें कि अमेरिका से अन्य देशों के तुलना में अधिक संख्या में पर्यटक भारत आते हैं और अधिक समय तक भारत में रहते हैं। अमेरिकी पर्यटक जहां 29 दिन तक रहता है, वहीं अन्‍य देशों के लोग 22 दिनों तक रहते हैं। फेथ ने कहा क‍ि अगर अमेरिका सरकार भारत के पक्ष में ट्रेवेल अडवाइजरी जारी करती है तो यह भारत में यात्रा को लेकर एक अच्‍छा माहौल पैदा करेगा। इससे कोरोना से कराह रहे पर्यटन उद्योग को बहुत राहत मिलेगी।

इस अमेरिकी अडवाइजरी में यह भी चेतावनी दी गई है कि कोरोना वायरस की वजह से सीमा को बंद किया जा सकता है और एयरपोर्ट को बंद किया जा सकता है। यात्रा पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है। लॉकडाउन लग सकता है। अमेरिका के विदेश विभाग ने विशेष रूप से जम्‍मू-कश्‍मीर और भारत-पाकिस्‍तान सीमा पर नहीं जाने के लिए चेतावनी जारी की है। फेथ ने कहा कि सीरिया और पाकिस्‍तान की सूची में डाला भारत के लिए बहुत खराब स्थिति है।

Next Story
Share it