बंगाल चुनाव

ममता ने कोलकाता में व्हीलचेयर पर 5 किलोमीटर लंबा रोड शो कर भरी हुंकार, कहा एक टूटे हुए पैर के सहारे चुनाव जीतेंगे

Janjwar Desk
14 March 2021 3:02 PM GMT
ममता ने कोलकाता में व्हीलचेयर पर 5 किलोमीटर लंबा रोड शो कर भरी हुंकार, कहा एक टूटे हुए पैर के सहारे चुनाव जीतेंगे
x
ममता ने भरी चुनावी हुंकार, कार्यकर्ताओं को उत्साहित करते हुए बोलीं, अगर मैं बिस्तर पर आराम करने चली जाऊं तो कौन लोगों तक पहुंच पाएगा... हमें बहुत नुकसान हुआ है और हम और अधिक पीड़ित होंगे, लेकिन हम कायरता के आगे कभी नहीं झुकेंगे...

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राजकीय एसएसकेएम अस्पताल से छुट्टी मिलने के एक दिन बाद, रविवार 14 मार्च को अपने भतीजे और सांसद अभिषेक बनर्जी के साथ यहां पांच किलोमीटर लंबा रोड शो किया। रोड शो के दौरान ममता व्हीलचेयर से चलीं। सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने 'नंदीग्राम दिवस' मनाने के लिए मेयो रोड से 5 किलोमीटर लंबा रोड शो का आयोजन किया।

रोड शो में ममता व्हीलचेयर पर सबसे आगे चलीं और उनके पीछे सैकड़ों लोगों और अन्य तृणमूल नेताओं का समूह चला। इस दौरान ममता ने कहा कि उन्हें बंगाल के लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों की रक्षा करने से कोई रोक नहीं पाएगा।

उन्होंने कहा, "हम निर्भीकता से लड़ते रहेंगे। मैं अभी भी बहुत दर्द में हूं, लेकिन मुझे अपने लोगों का दर्द और भी अधिक महसूस हो रहा है।"

ममता ने कहा कि श्रद्धेय भूमि की रक्षा के लिए इस लड़ाई में वह इस व्हीलचेयर पर ही बंगाल के चारों ओर घूमना जारी रखेंगी। उन्होंने कहा, "अगर मैं बिस्तर पर आराम करने चली जाऊं तो कौन लोगों तक पहुंच पाएगा... हमें बहुत नुकसान हुआ है और हम और अधिक पीड़ित होंगे, लेकिन हम कायरता के आगे कभी नहीं झुकेंगे।" उन्होंने कहा, उनका लक्ष्य चोट और अस्वस्थ होने के बावजूद मजबूत है।


रोड शो के दौरान अभिषेक बनर्जी ने लोगों से वामपंथी-कांग्रेस-आईएसएफ महागठबंधन के लिए वोट न करने की अपील की। वहीं, ममता ने कहा, "बंगाल में बाहरी लोग सत्ता में नहीं आ पाएंगे। हम एक टूटे हुए पैर के सहारे चुनाव जीतेंगे और एक बार फिर नबान्नो लौटेंगे।"

ममता बनर्जी को बुधवार 10 मार्च की शाम पूर्वी मिदनापुर के नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान कार से निकलते ही पैर में चोट लग गई थी। उन्हें ग्रीन चैनल के माध्यम से उसी रात कोलकाता ले जाया गया और राजकीय एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया गया। ममता को शुक्रवार 12 मार्च की शाम अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

अपने अभियान के कार्यक्रम के अनुसार, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को सोमवार 15 मार्च से तीन जिलों - पुरुलिया, बांकुरा और झारग्राम का दौरा करना है। सूत्रों ने कहा कि ममता इन सभी जिलों की यात्रा हेलीकॉप्टर से करेंगी, लेकिन यात्रा के दौरान व्हीलचेयर पर बैठी रहेंगी, क्योंकि उनके पैर की चोट अभी पूरी तरह से ठीक नहीं हुई है।

गौरतलब है कि कोलकाता जाने से ठीक पहले 66 वर्षीय तृणमूल सुप्रीमो ने बुधवार को मीडिया से कहा था कि उन्हें बिरुलिया अंचल में 4-5 लोगों ने धक्का दिया था और उनकी कार का दरवाजा बंद कर दिया था। उस समय उसके आसपास कोई पुलिस कर्मी नहीं था। एक एसयूवी की अगली सीट पर बैठीं ममता अपने पैर की इशारा करते हुए कह रही हैं कि, "देखें यह कैसे सूजा हुआ है।"

Next Story

विविध

Share it