बिहार चुनाव 2020

पहले चरण में 1357 प्रत्याशियों ने किया नामांकन, जानें कहां से सर्वाधिक और कहां से सबसे कम प्रत्याशी

Janjwar Desk
10 Oct 2020 4:55 AM GMT
पहले चरण में 1357 प्रत्याशियों ने किया नामांकन, जानें कहां से सर्वाधिक और कहां से सबसे कम प्रत्याशी
x

प्रतीकात्मक तस्वीर

राज्य निर्वाचन आयोग से जारी सूचना के अनुसार शुक्रवार को नामांकन पत्रों की जांच के लिए तिथि निर्धारित थी, नामांकन पत्र वापसी के लिए १२ अक्तूबर की तिथि निर्धारित है तथा २८ अक्तूबर को इस चरण के लिए वोट डाले जायेंगे...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। विधानसभा चुनाव २०२० के प्रथम चरण के लिए नामांकन का परचा दाखिल करने का काम 8 अक्टूबर, गुरुवार को समाप्त हो गया है। इस चरण के लिए 71 सीटों पर कुल १३५७ उम्मीदवारों ने नामांकन का परचा दाखिल किया है। सबसे खास बात यह है कि १० उम्मीदवारों ने ही ऑन लाइन नामांकन किया है, शेष ने ऑफ लाइन को ही चुना है। सबसे ज्यादा 31 उम्मीदवार टेकारी और कटोरिया से सबसे कम 8 उम्मीदवारों ने नामजदगी का पर्चा भरा है।

इस बार निर्दलीय प्रत्याशियों की संख्या भी काफी बताई जा रही है। इन निर्दलीय प्रत्याशियों में ज्यादातर वैसे बताए जाते हैं, जो किसी दल से प्रत्याशी बनाए जाने की उम्मीद में थे, पर अंतिम क्षणों में गठबंधन की मजबूरी या अन्य कारणों से इन्हें टिकट नहीं मिल सका।

इस बीच 9 अक्टूबर से दूसरे चरण के लिए नामांकन भी शुरू हो चुका है। राज्य निर्वाचन आयोग से जारी सूचना के अनुसार शुक्रवार को नामांकन पत्रों की जांच के लिए तिथि निर्धारित थी। नामांकन पत्र वापसी के लिए १२ अक्तूबर की तिथि निर्धारित है तथा २८ अक्तूबर को इस चरण के लिए वोट डाले जायेंगे।

राज्य निर्वाचन कार्यालय से जारी सूचना के अनुसार सर्वाधिक ३१ नामांकन टिकारी विधानसभा क्षेत्र में किया गया है। दूसरे नंबर पर पालीगंज हैं जहां २९ उम्मीदवारों ने परचा भरा है। इसके बाद बांका, तारापुर, बाढ़, आरा, गया शहरी जहां २८-२८ उम्मीदवारों ने नामांकन का परा दाखिल किया है। वहीं सबसे कम कटोरिया विधानसभा क्षेत्र में आठ उम्मीदवारों ने नामांकन का परचा दाखिल किया है।

इस चरण के अधिकांश विधानसभा क्षेत्र सघन रुप से नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में आते हैं, लिहाजा वहां शंातिपूर्ण व निष्पक्ष चुनाव कराना प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती से कम नहीं है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से इन संवेदनशील क्षेत्रों के सभी मतदान केंद्रों पर अद्र्घसैँनिक बलों को तैनात किये जाने की बात कही जा रही है। ऐहतियात के दौर पर इन क्षेत्रों में अद्र्घसैनिक बलों द्वारा फ्ïलैग मार्च किया ही जा रहा है साथ में वहां नियमित गश्ती भी सख्ती से की जा रही है।

वहां लॉ एंड आर्डर को बनाये रखने के उद्देश्य से की जा रही एहतियाती कार्रवाई के दौरान आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर विभिन्न थानों में १४६ मामले दर्ज कराये गये हैं। आचार संहिता के प्रभावी होने के दिन से सरकारी संपत्ति से २१०१६ तथा निजी संपत्ति ३३२६ बैनर पोस्टर आदि हटाये गये हैं।

विधि व्यवस्था के मद्देनजर अब तक १००५ अवैध शस्त्र तब्त किये गये हैं। १७७२ लाइसेंस का रद्ïद किया गया है। राज्य में १५७० चेक पोस्ट कार्यरत हैं। १३३६ व्यक्तियो के विरूद्ध सीसीए की कार्रवाइ की गयी है। आठ लाख ७९ हजार २४६ लीटर शराब जब्त की गयी है। वाहन चेकिंग के दौरान १४ करोड़ ३२ लाख २५ हजार से अधिक रूपये बतौर जुर्माना वसूले गये हैं।

Next Story

विविध

Share it