अंधविश्वास

Agra Crime News : तांत्रिक ने देवी को खुश करने के लिए चढ़ाई ढाई साल के बच्चे की बलि, हत्या का मुकदमा दर्ज

Janjwar Desk
29 Jun 2022 7:15 AM GMT
Agra Crime News : तांत्रिक ने देवी को खुश करने के लिए चढ़ाई ढाई साल के बच्चे की बलि, हत्या का मुकदमा दर्ज
x

Agra Crime News : तांत्रिक ने देवी को खुश करने के लिए चढ़ाई ढाई साल के बच्चे की बलि, हत्या का मुकदमा दर्ज

Agra Crime News : आगरा (Agra) में थाना जगनेर के गांव वरिगवां में ढाई साल का मासूम तंत्र-मंत्र की बलि चढ़ गया, 13 दिन पहले घर के बाहर से खेलने के दौरान बच्चे का अपहरण कर लिया गया था। अगले दिन बच्चे का शव झाड़ियों में पड़ा मिला...

Agra Crime News : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आगरा (Agra Crime News) से हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। बता दें कि आगरा (Agra Crime News) में थाना जगनेर के गांव वरिगवां में ढाई साल का मासूम तंत्र-मंत्र की बलि चढ़ गया। 13 दिन पहले घर के बाहर से खेलने के दौरान बच्चे का अपहरण कर लिया गया था। अगले दिन बच्चे का शव झाड़ियों में पड़ा मिला। मंगलवार को मामले में पुलिस ने आरोपी तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए पूरी घटना बताई।

गांव के बाहर मिला बच्चे का शव

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 15 जून को वरिगवां गांव के रामअवतार का ढाई वर्षीय बेटा अचानक गायब हो गया था। काफी देर खोजबीन के बाद बच्चे के पिता ने बच्चा गायब होने की सूचना पुलिस को दी। जांच में जुटी पुलिस व ग्रामीणों को 16 जून को गायब हुए बच्चे का शव गांव से बाहर किबाड़ नदी के बहाव क्षेत्र में पड़ा मिला था। पोस्टमार्टम में बच्चे की हत्या की बात सामने आने के बाद पुलिस हत्यारोपी तक पहुंचने के प्रयास में जुट गयी।

पुलिस ने किया आरोपी को गिरफ्तार

बीते मंगलवार को एसपीआरए ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि थाना जगनेर पुलिस टीम द्वारा मामला प्रकाश में आया। अभियुक्त हुकुम सिंह उर्फ भोला निवासी वरिगवां को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस पूछताछ में हुकुम सिंह ने पूरी वारदात का खुलासा करते हुए बताया कि वह देवी माता का पुजारी है। देवी उससे प्रसन्न रहती हैं और उस पर सवार हो जाती हैं।

देवी को प्रसन्न करने के लिए दी बच्चे की बलि

ऐसे में जो भी लोग उसके पास मदद के लिए आते हैं, देवी की कृपा से उनके काम पूरे हो जाते हैं। वह तंत्र-मंत्र से लोगों की बीमारियां भी ठीक कर देता है। लेकिन कुछ समय से उसके तंत्र-मंत्र का असर कम होने लगा था। क्योंकि देवी उससे रूठ गई थीं। देवी को प्रसन्न करने के लिए उसे बच्चे की बलि देने का निश्चय किया। हुकुम सिंह ने बताया कि उसने गांव के ही रहने वाले रामअवतार को गॉड में ढ़ाई साल के रितिक को ले जाते हुए देखा, जिसके बाद उसके दिमाग में आया कि यदि वह रामअवतार के बेटे की बलि दे देता है, तो देवी प्रसन्न हो जाएंगी।

किडनैप कर उतारा मौत के घा

इसके बाद तांत्रिक हुकुम सिंह ने रामअवतार को उठा लिया। मंदिर के पास ट्यूबवेल की कोठरी में ले जाकर बच्चे की हत्या कर दी और फिर बच्चे की लाश को देवी के चरणों में अर्पित कर दिया। इसके बाद किसी को शक ने हो इसके लिए बच्चे की लाश को प्लास्टिक की बोरी में बंद कर किवाड नदी में जाकर फेंक दिया। लाश फेंकने के बाद प्लास्टिक की बोरी निकाल दी, जिससे बच्चे की लाश को जानवर खा लें और किसी को इस घटना की जानकारी न हो सके।

ऐसे आया आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

बच्चे को उठाकर ले जाते हुए गांव के ही शेरू उर्फ प्रदीप ने देख लिया था इसलिए तांत्रिक ने उसे भी धमकी दी थी कि अगर पुलिस को या किसी को कुछ बताया तो उसकी भी बलि चढ़ा देगा लेकिन शेरू उर्फ प्रदीप ने पुलिस को सबकुछ बता दिया। जिसके बाद पुलिस उसके पीछे पड़ गई और आखिरकार उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।

Next Story

विविध