अंधविश्वास

अंधविश्वास : झारखंड में जादू टोने के शक में दंपती की कुल्हाड़ी से काटकर नृशंसता से कर दी हत्या

Janjwar Desk
11 Dec 2020 1:32 PM GMT
अंधविश्वास : झारखंड में जादू टोने के शक में दंपती की कुल्हाड़ी से काटकर नृशंसता से कर दी हत्या
x

प्रतीकात्मक फोटो

2000 में राज्य के गठन के बाद से झारखंड में अब तक 1,500 से अधिक व्यक्तियों, जिनमें से अधिकांश महिलाएं, काला जादू का अभ्यास करने के आरोप में मारे गए हैं....

रांची। झारखंड के लोहरदगा जिले के एक गांव में जादू-टोना करने के संदेह में एक दंपती की हत्या कर दी गई। पेशरार पुलिस थाना क्षेत्र में पुतरर गांव में रामसेवक भगत और उनकी पत्नी की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी गई।

शुरुआती जांच के बाद पुलिस को शक है कि व्यक्तिगत दुश्मनी हत्याओं की असली वजह थी। फिलहाल पुलिस इस मामले की पड़ताल में जुट गई है।

गौरतलब है कि 2000 में राज्य के गठन के बाद से झारखंड में अब तक 1,500 से अधिक व्यक्तियों, जिनमें से अधिकांश महिलाएं, काला जादू का अभ्यास करने के आरोप में मारे गए हैं।

गौरतलब है कि देश में अंधविश्वास के कारण सर्वाधिक लिंचिंग और नृशंस तरीके से मारे जाने की घटनायें झारखंड में ही सामने आती हैं, बावजूद इसके इस मामले में सरकार की तरफ से कोई ऐसी कार्रवाई नहीं की जाती कि इन घटनाओं पर लगाम लगे।

इस मामले में पेशरार थाना पुलिस मृतक दंपती के बेटे से पूछताछ कर रही है। हत्या की इस घटना की पुष्टि एसपी प्रियंका मीना ने की है।

शुरुआती जानकारी के मुताबिक ग्रामीणों ने डायन बिसाही का आरोप लगाकर रामसेवक भगत और उसकी पत्नी की हत्या कर दी है। पुलिस आपसी रंजिश और डायन बिसाही सहित अन्य बिंदुओं पर भी पड़ताल कर रही है।

Next Story

विविध