अंधविश्वास

Gopalganj Crime News : डायन का आरोप लगाते हुए पड़ोसियों ने किया घर पर हमला, 3 महिलाओं की बेरहमी से पिटाई

Janjwar Desk
22 March 2022 1:03 PM GMT
Gopalganj Crime News : डायन का आरोप लगाते हुए पड़ोसियों ने किया घर पर हमला, 3 महिलाओं की बेरहमी से पिटाई
x

(डायन का आरोप लगाते हुए पड़ोसियों ने किया घर पर हमला)

Gopalganj Crime News : गोपालगंज (Gopalganj) में बच्चों के बीच हुए विवाद में डायन - बिसात का आरोप लगाकर पड़ोसियों ने एक परिवार की तीन सदस्यों की बेरहमी से पिटाई कर दी...

Gopalganj Crime News : इक्कीसवीं सदी में जहां भारत (India) आज हर क्षेत्र ने तरक्की के नए आयाम गढ़ रहा है| वहीं समाज में अभी भी अंधविश्वास (Blind Faith) की जड़े मौजूद है| ताजा मामला बिहार (Bihar) से सामने आया है| बता दें कि यहां गोपालगंज (Gopalganj) में डायन - बिसात का आरोप लगाकर पड़ोसियों ने एक परिवार की तीन सदस्यों की बेरहमी से पिटाई कर दी| घटना फुलवरिया थाना क्षेत्र के काजीपुर बथुआ गांव की है|

महिला और बेटियों के साथ मारपीट

बता दें कि बच्चों के बीच हुए विवाद में डायन बिसात का आरोप लगाकर एक महिला और उसकी दो बेटियों के साथ मारपीट की गई| घायल तीनों महिलाओं को इलाज के लिए सदर अस्पताल (Civil Hospital) में भर्ती कराया गया है| इस मामले की सूचना मिलने पर पुलिस ने घायलों के बयान पर प्राथमिकी (FIR) दर्ज की है और कार्रवाई में जुट गई है|

ऐसे शुरू हुआ विवाद

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पीड़ित गुड़िया कुमाई ने बताया कि पड़ोस में रहने वाले बच्चे खेलते हुए उसके घर में घुस आए और घर का सामान बिखेरने लगे| यह देखकर उसने बच्चों को डांट फटकार लगाई और अपने घर से बाहर कर दिया| तब बच्चों ने घर जाकर रोते हुए अपने परिजनों को यह बात बताई, जिसके बाद बच्चों के परिजन उनके घर में घुस आए और लाठी और डंडे व रॉड से उनकी पिटाई कर दी| इस हमले में रामायण साह की पत्नी रीता देवी और उनकी बेटियां गुड़िया कुमारी और चांदनी कुमारी घायल हुई हैं|

बेटियां खतरे से बाहर, मां की हालत गंभीर

बता दें कि स्थानीय लोगों की मदद से तीनों घायलों को फुलवरिया रेफरल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार देने के बाद तीनों को बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल के रेफर कर दिया है| सदर अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सनाउल मुस्तफा ने बतया कि रीता देवी नाम की महिला के सिर में अधिक चोट लगी है जबकि उनकी दोनों बेटियां फिलहाल खतरे से बाहर है| बता दें कि फुलवरिया पुलिस इस मामले में घायलों का बयान दर्ज कर चुकी है और अब जांच में हुई है|

(जनता की पत्रकारिता करते हुए जनज्वार लगातार निष्पक्ष और निर्भीक रह सका है तो इसका सारा श्रेय जनज्वार के पाठकों और दर्शकों को ही जाता है। हम उन मुद्दों की पड़ताल करते हैं जिनसे मुख्यधारा का मीडिया अक्सर मुँह चुराता दिखाई देता है। हम उन कहानियों को पाठक के सामने ले कर आते हैं जिन्हें खोजने और प्रस्तुत करने में समय लगाना पड़ता है, संसाधन जुटाने पड़ते हैं और साहस दिखाना पड़ता है क्योंकि तथ्यों से अपने पाठकों और व्यापक समाज को रु-ब-रु कराने के लिए हम कटिबद्ध हैं।

हमारे द्वारा उद्घाटित रिपोर्ट्स और कहानियाँ अक्सर बदलाव का सबब बनती रही है। साथ ही सरकार और सरकारी अधिकारियों को मजबूर करती रही हैं कि वे नागरिकों को उन सभी चीजों और सेवाओं को मुहैया करवाएं जिनकी उन्हें दरकार है। लाजिमी है कि इस तरह की जन-पत्रकारिता को जारी रखने के लिए हमें लगातार आपके मूल्यवान समर्थन और सहयोग की आवश्यकता है।

सहयोग राशि के रूप में आपके द्वारा बढ़ाया गया हर हाथ जनज्वार को अधिक साहस और वित्तीय सामर्थ्य देगा जिसका सीधा परिणाम यह होगा कि आपकी और आपके आस-पास रहने वाले लोगों की ज़िंदगी को प्रभावित करने वाली हर ख़बर और रिपोर्ट को सामने लाने में जनज्वार कभी पीछे नहीं रहेगा, इसलिए आगे आएं और अपना सहयोग दें।)

Next Story

विविध