अंधविश्वास

अंधविश्वास : तांत्रिक के कहने पर नि:संतान महिला ने 3 साल के बच्चे को उतारा मौत के घाट

Janjwar Desk
22 March 2021 6:35 AM GMT
झारखंड के गुमला में भतीज ने चाचा चाची की हत्या की
x

अंधविश्वास में भतीजे ने चाचा-चाची और भाभी को उतारा मौत के घाट (प्रती​कात्मक तस्वीर)

हरदोई की रहने वाली नीलम अपने पति के साथ दिल्ली के बुद्ध विहार इलाके में रहती है। बुद्ध विहार थाने में 3 साल के बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद शनिवार को यह मामला सामने आया।

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक अंधविश्वासी, नि:संतान महिला ने एक तांत्रिक के कहने पर 3 साल के एक लड़के की बेरहमी से गला घोंटकर हत्या कर दी।

डीसीपी रोहिणी प्रणव तायल ने कहा, "पूछताछ के दौरान आरोपी नीलम गुप्ता ने खुलासा किया कि उसने 2013 में शादी की थी और चिकित्सा सहायता के बावजूद वह मां नहीं बन सकी। ससुराल और समाज के ताने सुन-सुनकर परेशान रहने के कारण उसने एक तांत्रिक से संपर्क किया। वह उत्तर प्रदेश के हरदोई में चार साल पहले एक तांत्रिक के पास पहुंची थी, जिसने उस समय सुझाव दिया था कि अगर वह गर्भधारण करना चाहती है तो उसे एक बच्चे की बलि देनी होगी।"

हरदोई की रहने वाली नीलम अपने पति के साथ दिल्ली के बुद्ध विहार इलाके में रहती है। बुद्ध विहार थाने में 3 साल के बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद शनिवार को यह मामला सामने आया। तलाशी अभियान के दौरान पुलिस ने पड़ोस की छत पर एक सफेद रंग का बैग देखा और इससे उनके मन में कुछ संदेह पैदा हुआ। तब पुलिस ने उस बैग को खोला।

अधिकारी ने कहा, "बैग में शव था। मृत बच्चे की गर्दन पर चोट के निशान थे और जांच में पाया गया कि उसका गला घोंटा गया था।" परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों और परिवार के पड़ोसियों से पूछताछ की गई। पूछताछ के दौरान यह पता चला कि बच्चे को पड़ोस में रहने वाली नीलम के साथ देखा गया था।

लगातार पूछताछ के बाद आरोपी महिला ने पहले तो पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की, लेकिन बाद में उसने कबूल किया कि "जब वह लड़का छत पर अकेला खेल रहा था, तभी पकड़कर उसकी हत्या कर दी।" उसने कहा, "जब वह छत पर गई तो वहां उस समय और कोई नहीं था। उसी समय उसने इस वारदात को अंजाम दिया।"

Next Story

विविध