Top
अंधविश्वास

अंधविश्वास : वज्रपात में घायल 2 लोगों को बचाने के लिए दबा दिया गोबर में, दोनों की हुई मौत

Janjwar Desk
1 July 2020 2:59 PM GMT
अंधविश्वास : वज्रपात में घायल 2 लोगों को बचाने के लिए दबा दिया गोबर में, दोनों की हुई मौत
x
आकाशीय बिजली से घायल लोगों को अंधविश्वास के नाम पर ऐसे दबा दिया गया गोबर में (photo : social media)
छत्तीसगढ के जशपुर में अंधविश्वास के कारण आकाशीय बिजली से जख्मी हुए दो व्यक्ति की मौत हो गई और जिसका इलाज अस्पताल में कराया गया वह जीवित बच गया...

जनज्वार। छत्तीसगढ के जशपुर जिले में अंधविश्वास की वजह से आकाशीय बिजली से घायल हुए दो आदमी की मौत हो गई, जबकि जिसे इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया उसकी जान बच गई। यह मामला जशपुर जिले पत्थगांव के बागबहार गांव का है। यहां आकाशीय बिजली की दो अलग-अलग घटना घटी थी, जिसमें एक युवती व दो पुरुष घायल हो गए थे। यह घटना 28 जून, दिन रविवार की है।

इसमें राजू नामक एक व्यक्ति को इलाज के लिए स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां इलाज के बाद उसकी जान बचा ली गई। वहीं, चंपाबाई नामक युवती व सुनील नामक पुरुष के इलाज में अंधविश्वास का सहारा लिया गया, जिससे उनकी मौत हो गई।

युवती चंपाबाई का इलाज गोबर में ढक कर शुरू किया गया, जिसमें काफी समय बर्बाद हो गया और आखिरकार उसकी मौत हो गई। इसी तरह सुनील के उपचार के लिए भी अंधविश्वास का सहारा लिया गया जिससे उसकी मौत हो गई। सुनील के इलाज में जब अंधविश्वास का सहारा लिया गया तो कुछ जागरूक स्थानीय लोगों ने विरोध किया, इसके बाद फरसाबहार स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां डाॅक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

एसपी शंकर लाल बघेल ने घटना की पुष्टि की है और कहा है कि आकाशीय बिजली की दो अलग-अलग घटना में तीन घायल हुए थे, जिसमें अंधविश्वास की वजह से दो की मौत हो गई और जिसका समय पर इलाज कराया गया उसे बचा लिया गया।

Next Story

विविध

Share it