कोविड -19

ओणम के सप्ताह भर बाद केरल में कोरोना विस्फोट, 24 घंटे में सामने आये 31,445 नए केस

Janjwar Desk
25 Aug 2021 1:46 PM GMT
ओणम के सप्ताह भर बाद केरल में कोरोना विस्फोट, 24 घंटे में सामने आये 31,445 नए केस
x

केरल में कोरोना केसों की संख्या सर्वाधिक (प्रतीकात्मक तस्वीर)

केरल में कोरोना मरीजों की कुल संख्‍या फिलहाल 38,51,984 है, हाल में 173 लोगों की कोरोना से मौत भी हुई, राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्‍या बढ़कर 19,757 हो गई है...

जनज्वार। तीसरी लहर की चेतावनियों के बीच केरल में कोरोना के केस जिस रफ्तार से बढ़ रहे हैं, उससे कहा जाने लगा है कि तीसरी लहर की शुरुआत इसी राज्य से होगी। ओणम त्योहार के बाद जिस गति से यहां कोविड केस डबल से भी ज्यादा हुए हैं, उससे माना जा रहा है कि सरकार द्वारा त्योहार के मद्देनजर दी गयी छूट के कारण राज्य में हालात बेकाबू हुए हैं।

गौरतलब है कि केरल में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 31,445 नए केस सामने आए हैं। कल मंगलवार 24 अगस्त को यहां 24,296 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आये थे। केरल में बढ़ते केस इसलिए भी चिंता बढ़ाने वाले हैं क्योंकि विशेषज्ञ आशंका जता रहे हैं कि तीसरी लहर का प्रकोप अक्टूबर तक बरसेगा। तीसरी लहर को लेकर लोग इसलिए भी चिंतित हैं क्योंकि इसे बच्चों के लिए खतरनाक बताया जा रहा है।

केरल में जिस गति से कोविड मरीज बढ़ रहे हैं उसके बाद कहा जा रहा है कि ओणम उत्सव में दी गयी ढील के कारण राज्य में हालात बेकाबू हो रहे हैं और महामारी अपना असर दिखा रही है। जानकारी के मुताबिक केरल में तीन दिनों में रोज 17,000 से कम कोविड केसेस सामने आ रहे थे, हालांकि इससे पहले की संख्या 20,000 से ऊपर थी।

केरल में कोरोना मरीजों की कुल संख्‍या फिलहाल 38,51,984 है। हाल में 173 लोगों की कोरोना से मौत भी हुई है। यानी इस राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्‍या बढ़कर 19,757 हो गई है।

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान (एनआईडीएम) के तहत गठित एक्सपर्ट पैनल पहले ही तीसरी लहर के बारे में सचेत कर चुका है। एक्सपर्ट के मुताबिक तीसरी लहर अक्टूबर के आसपास पीक पर पहुंच सकती है। कमेटी ने खासतौर पर सुझाव दिया है कि तीसरी लहर की तैयारियों के त​हत बच्चों के लिए बेहतर मेडिकल सुविधायें जुटायी जायें, ताकि उन्हें बेहतर इलाज मिल सके।

Next Story

विविध