कोविड -19

Omicron Variant : लगातार बढ़ रहे ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले, AIIMS डायरेक्टर की चेतावनी किसी भी स्थिति के लिए रहें तैयार

Janjwar Desk
20 Dec 2021 1:48 PM GMT
ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर एम्स निदेशक ने चेतावनी दी, कहा हर स्थिति के लिए रहें तैयार
x

(एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया)

Omicron Variant : ओमिक्रॉन वैरिएंट के बढ़ते मामलों को देखते हुए एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने चेतावनी दी है...

Omicron Variant : ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया (Dr. Randeep Guleria) ने ओमिक्रॉन के लगातार बढ़ते मामलों के लेकर चेतावनी दी है। गुलेरिया ने कहा है कि देश को किसी भी हालात का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए।

बेहद संक्रामक है नया वैरिएंट ओमिक्रॉन

बता दें कि भारत में अबत ओमिक्रॉन वैरिएंट (Omicron Variant) के डेढ़ सौ से ज्यादा मामले दर्ज किए जा चुके हैं। कोरोना का यह नया वैरिएंट बेहद संक्रामक माना जा रहा है। दुनियाभर में इस वैरिएंट के हजारों की संख्या में मामले सामने आ रहे हैं।

ब्रिटेन में हर रोज सामने आ रहे लाखों केस

ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले में ब्रिटेन में तो रविवार को करीब दस हजार नए मामले सामने आए। ब्रिटेन में बढ़ते मामलों का हवाला देते हुए गुलेरिया ने कहा है कि हमें किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहना होगा। ब्रिटेन में हर रोज करीब एक लाख केस सामने आ रहे हैं। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि हमें ओमिक्रॉन पर अभी डेटा की जरूरत है।

बढ़ते ग्राफ पर रखनी होगी नजर

उन्होंने कहा कि अमेरिका, ब्रिटेन और अन्य देशों में कोरोना के बढ़ते ग्राफ पर हमें सतर्क नजर रखनी होगी। यह समझदारी भरा कदम होगा कि हम पहले ही ऐसी किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए खुद को तैयार रखें।

साउथ अफ्रीका से आया सबसे पहले ओमिक्रॉन वैरिएंट का मामला

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि ओमिक्रॉन का दुनिया में सबसे पहले पता साउथ अफ्रीका में चला था।

9 नवंबर को लिया ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला नमूना

ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला नमूना 9 नवंबर को लिया गया था जिसकी पुष्टि 25 नवंबर को हुई थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 26 नवंबर को कोविड 19 के इस वैरिएंट को B.1.1.529 नाम दिया था। फिर ओमिक्रॉन को वैरिएंट ऑफ कंसर्न दिया गया था।

Next Story

विविध