आर्थिक

India's Economic Growth: आर्थिक विकास में भारत ने अमेरिका और चीन को पीछे छोड़ा, IMF के मुताबिक भारत का वृद्धि दर 9.5 प्रतिशत

Janjwar Desk
13 Oct 2021 6:04 AM GMT
Indias Economic Growth: आर्थिक विकास में भारत ने अमेरिका और चीन को पीछे छोड़ा, IMF के मुताबिक भारत का वृद्धि दर 9.5 प्रतिशत
x

Photo Credit: Google

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के अनुमान के मुताबिक भारत में साल 2022 में आर्थिक वृद्धि दर 8.5 फीसदी तक पहुंच सकती है, जो सूची में शामिल किसी भी अन्य देशों की तुलना में सबसे ज्यादा है...

India's Economic Growth Rate (जनज्वार): कोरोना महामारी से प्रभावित पूरा विश्व अब उबरने की कगार में है। ऐसे में लंबे वक्त से बुरे दौर से गुजर रहे विश्व की अर्थव्यवस्था के सुधरने के संकेत मिले हैं। मंगलवार, 12 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) द्वारा जारी ताजा अनुमान की मानें तो वर्ष 2021 और 2022 में विभिन्न देशों की अर्थव्यवस्था के अच्छे दिन आने वाले हैं। आईएमएफ के अनुमान में सबसे खास बात ये है कि अन्य देशों की तुलना में भारत के आर्थिक वृद्धि की दर सबसे ज्यादा है।इस मामले में भारत ने अमेरिका औरचीन तक को पीछे छोड़ दिया है।

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के अनुमान के मुताबिक भारत में साल 2022 में आर्थिक वृद्धि दर 8.5 फीसदी तक पहुंच सकती है, जो सूची में शामिल किसी भी अन्य देशों की तुलना में सबसे ज्यादा है। वहीं, वर्ष 2021 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 9.5 प्रतिशत रहने के आसार हैं। गौरतलब है कि कोविड-19 के कारण देश की अर्थव्यवस्था में वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान 7.3 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई थी। कोरोना के तीसरी लहर की संभावना के बीच भारत की अर्थव्यवस्था अब पटरी पर लौटती नजर आ रही है।

आईएमएफ और विश्व बैंक की वार्षिक बैठक से पहले जारी ताजा डब्ल्यूईओ (WEO) के इस अनुमान के मुताबिक साल 2021 में जहां वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर 5.9 प्रतिशत और वर्ष 2022 में 4.9 प्रतिशत रहने का अनुमान है। वहीं, भारत का आर्थिक वृद्धि दर 2021 में 9.5 औस साल 2022 8.5 फिसदी रहने की संभावना है।

WEO द्वारा जारी सूची में संयुक्त राष्ट्र अमेरिका की अर्थव्यवस्था सुधरने की दर 6 फीसदी और साल 2022 में 5.2 फीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान है। पुर्वानुमानों के मुताबिक चीन की अर्थव्यवस्था 2021 में 8 प्रतिशत और 2022 में 5.6 प्रतिशत की दर से बढ़ने की संभावना है।सबसे बेहतर आर्थिक वृद्धि दर के साथ भारत जहां पहले संथान पर है, तो वहीं ब्रिटेन इस साल 6.8 प्रतिशत की आर्थिक विकास दर के साथ दूसरे स्थान पर आया। इसके अलावा, 6.5 प्रतिशत के साथ फ्रांस इस तालिका में तीसरे स्थान पर है।

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को वैश्विक आर्थिक वृद्धि की दर जारी करते हुए बताया कि कहा कि भारत में कोविड के खिलाफ टीकाकरण तेजी से चलाया जा रहा है और यही कारण है कि देश की अर्थव्यवस्था तेजी से पटरी पर लौट रही है। हालांकि, भारत का विकास दर अनुमान जुलाई के अपने पिछले WEO अपडेट से अपरिवर्तित है। लेकिन साल 2021 के अप्रैल माह के अनुमानों से इसमें तीन प्रतिशत अंक की गिरावट है। भारत की अर्थव्यवस्था जो कोरोना महामारी के कारण 7.3 प्रतिशत वर्ष अनुबंधित है, 2021 में 9.5 प्रतिशत और 8.5 फिसदी बढ़ने की संभावना है।

आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने कहा कि उनके जुलाई के पूर्वानुमान की तुलना में 2021 के लिए वैश्विक वृद्धि अनुमान को मामूली रूप से संशोधित कर 5.9 प्रतिशत कर दिया गया है और वर्ष 2022 के लिए यह 4.9 प्रतिशत पर ही है। इसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। गीता गोपीनाथ ने डब्ल्यूईओ को भेजे अपने प्रस्ताव में कहा, 'वैश्विक स्तर पर आर्थिक सुधार जारी है, लेकिन कोविड की वजह से गति कमजोर हो गई है।'


Next Story

विविध

Share it