Top
आर्थिक

कोरोना महामारी के बीच दुनिया के 8वें सबसे अमीर व्यक्ति बने मुकेश अंबानी, वॉरेन बफेट को पछाड़ा

Janjwar Desk
11 July 2020 3:30 AM GMT
कोरोना महामारी के बीच दुनिया के 8वें सबसे अमीर व्यक्ति बने मुकेश अंबानी, वॉरेन बफेट को पछाड़ा
x
ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडिक्स के मुताबिक मुकेश अंबानी अब दुनिया के सबसे अमीर दस लोगों में शामिल हो गए हैं, इसके साथ ही एशिया में वो एकमात्र शख्स हैं जिन्हें ये उपलब्धि हासिल है...

मुंबई। कोरोना महामारी के बीच रिलायंस ग्रुप के चैयरमेन और देश के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी दौलत के मामले में अब पूरी दुनिया में आठवें स्थान पर पहुंच गए हैं। पहले वह नौवें नंबर पर थे। ब्लूमबर्ग बिलियेनियर इंडेक्स के मुताबिक मुकेश अंबानी की संपत्ति 68.3 बिलियन डॉलर हो गई है जो कि निवेश गुरु माने जाने वाले वॉरेन बफेट से भी ज्यादा है। बफेट की कुल संपत्ति 67.7 बिलियन डॉलर से ज्यादा है।

ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडिक्स के मुताबिक मुकेश अंबानी अब दुनिया के सबसे अमीर दस लोगों में शामिल हो गए हैं। इसके साथ ही एशिया में वो एकमात्र शख्स हैं जिन्हें ये उपलब्धि हासिल है। मार्च की तुलना में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर दोगुनी कीमत पर पहुंच चुके हैं। इसके अलावा पिछले कुछ हफ्तों में अंबानी ने करीब 15 मिलियन डॉलर के निवेश करार किए हैं। उनकी कंपनी जियो में पैसा लगाने वाली कंपनियों में फेसबुक से सॉल्ट लेक तक शामिल हैं। इस हफ्ते बीपी पीएलसी ने भी रिलायंक के तेल कारोबार में 1 बिलियन डॉलर लगाए हैं।

वहीं इस बीच बफेट ने इस हफ्ते करीब 2.9 बिलियन डॉलर की दौलत दान में दे दी है। निवेश गुरू कहे जाने वाले बफेट ने 2006 से अब तक करीब 37 बिलियन डॉलर दान में दिए हैं। अंबानी अब पूरी दुनिया में 8वें सबसे अमीर शख्स हैं। बफेट नौवें नंबर पर हैं।

जियो में निवेश

22 अप्रैल को फेसबुक और जियो के बीच निवेश को लेकर डील हुई थी। यह डील 43,574 डॉलर की थी। इसके बाद फेसबुक जियो का सबसे बडा माइनॉरिटी शेयर होल्डर बन गया। फेसबुक ने 9.99 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी थी। इसके बाद अमेरिकी कंपनी सिल्वर लेक ने रिलायंस जियो में निवेश किया। चार मई को आरआईएल (रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड) ने घोषणा की कि सिल्वर लेक जियो प्लेटफॉर्म में 1.15 फीसदी की हिस्सेदारी खरीदकर 5655 करोड़ रुपये का निवेश करेगा।

सिल्वर लेक के अलावा 8 मई को अमेरिका की विस्ता इक्विटी पार्टनर्स कंपनी ने जियो प्लेटफॉर्म में निवेश किया। विस्ता इक्विटी पार्टनर्स ने 2.32 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी। 17 मई को अमेरिका की प्राइवेट इक्विटी फर्म जनरल अटलांटिक ने जियो में 6,598 करोड़ का निवेश किया। ये निवेश 1.34 फीसदी के इक्विटी स्टेक के जरिए किया गया।

अमेरिकी कंपनियों के अलावा 7 जून को अबू धाबी इंवेस्टमेंट अथॉरिटी (ADIA) ने जियो में 1.16 फीसदी की हिस्सेदारी 5,683.50 करोड़ में खरीदी। 13 जून को एसेट फर्म TPG ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 0.93 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 4,546.80 करोड़ रुपये का निवेश किया।

Next Story
Share it