पर्यावरण

Aaj ka Mausam/Weather Today, 6 November: उत्तर भारत में 'जानलेवा' बना प्रदूषण, महाराष्ट्र में बारिश, जानिए आपके राज्य में मौसम का मिजाज

Janjwar Desk
5 Nov 2021 5:41 PM GMT
Aaj ka Mausam/Weather Today, 6 November: उत्तर भारत में प्रदूषण बना जानलेवा, महाराष्ट्र में बारिश, जानिए आपके राज्य में मौसम का मिजाज
x
Aaj ka Mausam/Weather Today, 6 November: दक्षिण पूर्व अरब सागर और लक्ष्यद्वीप के आसपास एक कम दबाव का क्षेत्र बना है जिसके कारण महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान बारिश देखने को मिली है। दिवाली के दिन पुणे, सतारा, महाबलेश्वर, रत्नागिरी और गोवा में बारिश हुई...

Aaj ka Mausam/Weather Today, 6 November: दिवाली के बाद दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई हिस्सों में वायु प्रदूषण खतरनाक स्थिति पर पहुंच गया। हवा की रफ्तार में कमी के कारण वातावरण में मौजूद प्रदूषण और पराली के धुएं के कण स्थिर हो गए हैं जिससे वायु गुणवत्ता का स्तर 'बेहद खराब' हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार, बारिश या तेज हवाएं ही दिल्ली में प्रदूषण के स्तर को सुधार सकती है। वहीं, महाराष्ट्र, गोवा और दक्षिण के राज्यों में पिछले 24 घंटों के दौरान बारिश हुई। मौसम विभाग का अनुमान है कि इन राज्यों में बारिश का सिलसिला आगे भी जारी रहने की संभावना है।

उत्तर भारत में प्रदूषण बना जानलेवा

मौसम की जानकारी देने वाली निजी संस्था स्काईमेट वेदर के अनुसार, उत्तर भारत में पिछले कुछ दिनों से हवाओं की रफ्तार काफी कम बनी हुई है। हवाओं की रफ्तार कम होने से वातावरण में मौजूद धुआं और धूल सहित बाकी प्रदूषण के कण ज्यादा दूर तक नहीं जा पाते जिसके कारण वातावरण में प्रदूषण का स्तर बढ़ गया है। इसके अलावा तापमान कम होने के कारण सुबह और शाम के वक्त धुंध और कुहासा बन जाता है जो प्रदूषण फैलाने बाले धूल और धुएं के कणों से चिपक कर स्मॉग की चादर बना लेते हैं। प्रदूषण और कोहरे की वजह से शुक्रवार को दिल्ली स्थित पालम एयरपोर्ट की विजिबिविटि 350 मीटर रही। दिल्ली के अन्य इलाकों में भी विजिबिलिटि काफी कम हो गई है।



इधर, पंजाब और हरियाणा में पराली जलाई जा रही है जिसका धुआं दिल्ली की तरफ पहुंच रहा है जिसके कारण राजधानी में वायु प्रदूषण बेहद खतरनाक स्थिति पर पहुंच चुका है। विशेषज्ञों का कहना है कि दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण से राहत के दो ही उपाय हैं। उनमें से एक है तेज बारिश या फिर एक ही दिशा से लगातार तेज हवाएं चलना। मगर, पूर्वानुमान के मुताबिक, राजधानी में फिलहाल बारिश की कोई संभावना नहीं है लेकिन 6 नवंबर से उत्तर पश्चिमी दिशा से तेज हवाएं जरूर चलेंगी जिससे वायु प्रदूषण से काफी राहत मिलने की उम्मीद है।

महाराष्ट्र में बारिश के आसार

दक्षिण पूर्व अरब सागर और लक्ष्यद्वीप के आसपास एक कम दबाव का क्षेत्र बना है जिसके कारण महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान बारिश देखने को मिली है। दिवाली के दिन पुणे, सतारा, महाबलेश्वर, रत्नागिरी और गोवा में बारिश हुई। हालांकि, मौसम विभाग के अनुसार, 6 नवंबर से महाराष्ट्र में बारिश की गतिविधियां काफी कम हो जाएंगी लेकिन राज्य के दक्षिणी जिलों में छुटपुट बारिश होने की संभावना आगे भी बनी रहेगी।

आमतौर पर नवंबर के महीने में महाराष्ट्र का मौसम शिष्ट बना रहता है। बारिश नहीं होती है। मगर इस बार अरब सागर में बने मौसमी सिस्टम के प्रभाव से महाराष्ट्र में नवंबर माह में भी बारिश देखने को मिल रही है।

अगले 24 घंटों के दौरान भारत में मौसम

देश के विभिन्न हिस्सों में अगले 24 घंटों के दौरान मौसम का पूर्वानुमान में स्काईमेट ने बताया कि कर्नाटक, तमिलनाडु के हिस्सों, दक्षिण महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। इसके अलावा, गोवा, रायलसीमा, केरल, मध्य महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश में भी छिटपुट से मध्यम वर्षा हो सकती है। वहीं, जम्मू कश्मीर और लद्दाख, मराठवाडा, अंडमान और निकाबार द्वीप समूह में हल्की बारिश की उम्मीद है।


Next Story

विविध

Share it