Top
स्वास्थ्य

कोरोना ने बढाई चिंता, राज्य व जिलों में लगाये जा रहे छोटे लाॅकडाउन पर एम्स डायरेक्टर डाॅ गुलेरिया ने कही बड़ी बात

Janjwar Desk
11 July 2020 2:35 AM GMT
कोरोना ने बढाई चिंता, राज्य व जिलों में लगाये जा रहे छोटे लाॅकडाउन पर एम्स डायरेक्टर डाॅ गुलेरिया ने कही बड़ी बात
x
एम्स के डायरेक्टर डा रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि कम से कम 14 दिनों का लाॅकडाउन लगाना चाहिए...

जनज्वार। अनलाॅक वन व अनलाॅक टू में मिली छूट के बाद देश भर में व्यापक पैमाने पर बाजारें खुल गईं थी और लोगों की आवाजाही शुरू हो गई थी। यह भी कहा गया कि काम-धंधे को तो बहुत दिनों तक बंद नहीं रखा जा सकता है, इसलिए हमें अब कोरोना के साथ ही जीना होगा। लेकिन, छूट के बाद कोरोना के बढते मामलों ने राज्यों को परेशानी में डाल दिया और ऐसे में कुछ राज्यों ने अपने यहां छोटे लाॅकडाउन या सीमित क्षेत्र में लाॅकडाउन या सीमित जिलों में लाॅकडाउन जैसे विकल्प चुने। राज्यों के इस फैसले पर एम्स, दिल्ली के डायरेक्टर डाॅ रणदीप गुलेरिया ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रतिक्रिया दी है।

डाॅ गुलेरिया ने कहा है कि छोटे लाॅकडाउन से कोरोना के बढते मामलों को नियंत्रित करने में कोई मदद नहीं मिलेगी। कम से कम 14 दिनों का लाॅकडाउन तो लगाना चाहिए। मालूम हो कि महाराष्ट्र में कोरोना के मामले तेजी से बढ रहे हैं और पुणे में दस दिनों का लाॅकडाउन 13 जुलाई से आरंभ होगा। उधर, उत्तरप्रदेश ने 10 जुलाई की रात से 13 जुलाई की सुबह यानी ढाई दिन का लाॅकडाउन लगाया है।

बिहार के 37 जिलों में 12 जिलों में लाॅकडाउन लागू किया गया है। जमुई व कुछ अन्य जिलों में आज यानी 11 जुलाई से लाॅकडाउन शुरू हो गया है। झारखंड हाइकोर्ट ने कोरोना के बढते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार को कड़ाई से लाॅकडाउन नियमों का पालन करने का निर्दश दिया है और इससे जज, मंत्री, विधायक अफसर किसी को बख्शने को नहीं कहा है।

एसबीआइ की ओर से आयोजित इकोनाॅमिक कान्फ्रेंस में एम्स डायरेक्टर डाॅ रणदीप गुलेरिया ने शुक्रवार, 10 जुलाई को कहा, बढते नए संक्रमण मामलों की प्रवृत्ति अगले कुछ सप्ताह के दौरान देश के प्रमुख शहरों में कम या ज्यादा हो जाएगी। जबकि नए कोरोना मामलों में कमी आने में ज्यादा समय लगेगा। उन्होंने कहा कि शहर में नहीं कंटेनमेंट जोन में लाॅकडाउन लगाना चाहिए। उन्होंने चिंता जतायी कि अनलाॅक के दौरान लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना बिल्कुल कम कर दिया है। एम्स डायरेक्टर के अनुसार, साथ ही प्रशासन को कोरोना कलस्टर्स व कंटेनमेंट इलाकों पर लगातार नजर रखना चाहिए। अगर लाॅकडाउन लगाना ही है तो कम से कम 14 दिनों का लगाएं।

Next Story

विविध

Share it