Top
आजीविका

नोएडा में रेहड़ी वाले की सतर्कता से आत्महत्या करने जा रहे बुजुर्ग की बची जान, नौकरी छूटने के बाद बुरे थे हालात

Janjwar Desk
12 Nov 2020 6:07 AM GMT
नोएडा में रेहड़ी वाले की सतर्कता से आत्महत्या करने जा रहे बुजुर्ग की बची जान, नौकरी छूटने के बाद बुरे थे हालात
x
एक रेहड़ी वाले ने पीआरवी वैन में पुलिस को सूचना दी कि पड़ोस में रहने वाले एक बुजुर्ग व्यक्ति ने चूहे मारने वाली दवा खरीदी है और आत्महत्या करने के प्रयास करने के लिए स्टेलर ग्रीन पार्क गए हैं...

नोएडा। कोरोना महामारी ने कई लोगों को आर्थिक संकट में डाल दिया है, हालांकि इस बीमारी की वजह से हुई परेशानी से लोग अब भी नहीं उभर सके हैं। इसी क्रम में पुलिस ने नोएडा में आर्थिक तंगी से जूझ रहे एक बुजुर्ग को आत्महत्या करने से रोका।

दरअसल, बुधवार करीब सुबह 11.30 बजे थाना सेक्टर 39 स्थित एक पिआरवी वैन गश्त दे रही थी। उसी वक्त एक रेहड़ी वाले ने पीआरवी वैन में पुलिस को सूचना दी कि पड़ोस में रहने वाले एक बुजुर्ग व्यक्ति ने चूहे मारने वाली दवा खरीदी है और आत्महत्या करने के प्रयास करने के लिए स्टेलर ग्रीन पार्क गए हैं।

पुलिस को जब इसकी सूचना मिली तो तुरंत मौके पर पहुंची और देखा कि पार्क में लगे एक बेंच पर 60 वर्षीय बुजुर्ग हाथों में जहर लिए बैठा है। पुलिस द्वारा बुजुर्ग से बात की गई, जिसके बाद बुजुर्ग ने पुलिस को बताया कि कोरोना के कारण मेरी नौकरी चली गयी है और घर में जो पैसे बचे थे, वह भी खत्म हो गये हैं। जिसके कारण मैं जहर खाकर आत्महत्या करने जा रहा था।

पुलिसकर्मियों ने बुजुर्ग को समझाया गया और उन्हें आत्महत्या करने से रोका। वहीं पीआरवी पर तैनात कमांडर हैप्पी फर्शवाल व पायलट विपिन कुमार ने बुजुर्ग को अपना काम शुरू करने के लिये 10,000 रुपये की आर्थिक मदद की और भरोसा लिया कि आगे वो इस तरह का कदम नहीं उठाएंगे।

वहीं दूसरी ओर सही समय पर रेहड़ी वाले की समझदारी और सतर्कता से उस बुजुर्ग की जान बचाई जा सकी, जिसके लिए पुलिस द्वारा उनका शुक्रिया अदा भी किया गया।

Next Story

विविध

Share it