राष्ट्रीय

69000 Teacher Recruitment में छूटे हुए 6 हजार पदों पर होगी भर्ती, बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री ने जारी किया आदेश

Janjwar Desk
24 Dec 2021 2:29 PM GMT
Shekhpura News: दूसरी टीचर के सर्टिफिकेट पर महिला बनी प्रभारी प्रिंसिपल, अब चुकाना होगा 18 सालों का वेतन
x

(बिहार में फर्जी नाम के सहारे महिला ने 18 साल तक की सरकारी नौकरी) 

69000 Teacher Recruitment : बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री ने अपने ट्वीट में बताया कि 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में आरक्षण की प्रक्रिया में विसंगति से प्रभावित लगभग 6 हजार अभ्यर्थियों की भर्ती की जाएगी। इसके अलावा 17 हजार खाली पदों पर नई भर्ती भी होगी....

69000 Teacher Recruitment : उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बेसिक शिक्षा परिषद 23000 शिक्षकों की भर्ती करने जा रहा है। इनमें छह हजार आरक्षित वर्ग के लोगों को नौकरी मिलेगी और 17 हजार पदों पर नई भर्ती की जाएगी। इसको लेकर बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ. सतीश द्विवेदी (Dr Satish Dwivedi) ने आदेश जारी किया है। बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री ने अपने ट्वीट में बताया कि 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती (69000 Assistant Teacher Recruitment) में आरक्षण की प्रक्रिया में विसंगति से प्रभावित लगभग 6 हजार अभ्यर्थियों की भर्ती की जाएगी। इसके अलावा 17 हजार खाली पदों पर नई भर्ती भी होगी।

बता दें कि 69 हजार शिक्षक भर्ती को लेकर अभ्यर्थी लंबे समय से संघर्षरत हैं और डेढ़ साल से आंदोलन कर रहे हैं। इन अभ्यर्थियों का आरोप है कि अन्य पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए आरक्षित 18598 सीटों में से 5844 सीटें सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को दे दी गई हैं। राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग ने भी सरकार को इस मामले में पत्र भेजा है।

आंदोलनरत अभ्यर्थी विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से मिलकर अपनी बात रखते आ रहे हैं। इसको लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बुधवार को 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में आरक्षण की विसंगति को लेकर आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों ने मुलाकात की थी। मुख्यमंत्री योगी ने इसका संज्ञान लेते हुए बेसिक शिक्षा विभाग को समस्या के त्वरित और न्यायसंगत समाधान के निर्देश भी दिए हैं।

बता दें कि इससे पहले सरकार कई बार अपना पक्ष रख चुकी है और किसी भी तरह की गड़बड़ी की बात को इनकार करती रही है। सरकार ने पिछले सत्र में विधानसभा में अपना जवाब दिया कि अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए निर्धारित 18598 पदों के सापेक्ष 31228 अभ्यर्थियों की निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके भर्ती हुई है।

अभिनव पांडेय नाम के यूजर ने लिखा- लाठियों की चटक को बदन पर सहा, पुलिसवालों ने भी पीटते हुए ना जाने क्या-क्या कहा। मगर वो डिगे नहीं, हिले नहीं। आखिर में महीनों से आंदोलन कर रहे OBC छात्रों की जीत हुई, चुनाव से पहले यूपी सरकार झुक गई। आरक्षित वर्ग के 17000 रिक्त पदों भर्ती की मांग मान ली गई।


Next Story

विविध