राष्ट्रीय

HP Election 2022 : निजी गाड़ी में EVM मिलने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं का बवाल, लोकतंत्र की हत्या का लगाया आरोप

Janjwar Desk
13 Nov 2022 2:33 AM GMT
HP Election 2022 : रामपुर में निजी गाड़ी में EVM मिलने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मचाया बवाल, ईसी से की शिकायत
x

HP Election 2022 : रामपुर में निजी गाड़ी में EVM मिलने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मचाया बवाल, ईसी से की शिकायत

HP Election 2022 : हिमाचल के रामपुर से कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने निजी वाहन में ईवीएम मिलने की घटना के बाद चुनाव आयोग से सख्त कार्रवाई की मांग की।

HP Election 2022 : हिमाचल प्रदेश में 68 विधानसभा सीटों पर मतदान संपन्न होने के बाद भी भाजपा और कांग्रेस के बीच सियासी तनातनी जारी है। शिमला (Shimla) के रामपुर (Rampur) विधानसभा क्षेत्र में ईवीएम को निजी गाड़ी में ले जाने की घटना सामने आने के बाद एक बार फिर ईवीएम ( EVM ) पर विवाद शुरू हो गया है। कांग्रेस ( Congress ) पार्टी के कार्यकर्ताओं ने गाड़ी को घेरकर नारेबाजी की लेकिन लोकल पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाल लिया।

ईसी से की सख्त कार्रवाई की मांग

इस घटना के बाद हिमाचल कांग्रेस ( Congress ) के लीगल सेल ने मामले की शिकायत चुनाव आयोग से की है। हिमाचल कांग्रेस लीगल सेल के कार्यकारी अध्यक्ष प्रणय प्रताप सिंह ने कहा कि भाजपा ( BJP ) अपनी हार को देखकर बौखला गई है। हार को जीत में बदलने के लिए ईवीएम से छेड़छाड़ पर उतर आई है। निजी गाड़ी में ईवीएम पाए जाने को उन्होंने भाजपा की साजिश करार दिया है। कांग्रेस ने इस मामले में ईसी से सख्त कार्रवाई की मांग की है, ताकि हिमाचल में निष्पक्ष चुनाव संपन्न हो सके।

लोकतंत्र की हो रही है हत्या : लांबा

HP Election 2022 : वहीं हिमाचल रामपुर विधानसभा क्षेत्र में एक निजी गाड़ी में ईवीएम ( EVM ) पाए जाने के मामले में विधायक विक्रमादित्य सिंह ने सोशल मीडिया पर तस्वीरें साझा करते हुए लिखा कि रामपुर में एक निजी गाड़ी में ईवीएम पाई गई है। इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय प्रवक्ता अलका लांबा ( Alka lamba ) ने भी कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं। इसके साथ ही कांग्रेस नेता अलका लांबा ने ट्वीट कर लिखा है कि हिमाचल रामपुर में एक बार फिर निजी वाहन में #EVM मशीनें मिलने पर लोगों ने गाड़ी को घेर लिया। उन्होंने कांग्रेस चुनाव आयोग से इस घटना पर जवाब मांगा है। लांबा ने ईसी ( Election Commission ) की चुप्पी पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की सरेआम हत्या ( murder of democracy ) हो रही है। साथ ही सवाल किया है कि क्या चुनाव आयोग ( election commission India ) इस पर भी कोई सफ़ाई देगा।

Next Story

विविध