राष्ट्रीय

Bhabanipur by election result : भवानीपुर सीट पर ममता की शानदार जीत, तोड़े सारे रिकॉर्ड

Janjwar Desk
3 Oct 2021 1:34 PM GMT
Bhabanipur by election result : भवानीपुर सीट पर ममता की शानदार जीत, तोड़े सारे रिकॉर्ड
x
ममता बनर्जी ने 58,832 वोटों से भाजपा की प्रियंका टिबरेवाल को मात दी है। इस जीत के साथ ममता बनर्जी के लिए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने का खतरा भी टल गया है...

पश्चिम बंगाल की भवानीपुर सीट से ममता बनर्जी ने तीसरी बार जीत दर्ज कर ली है। इसबार राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 58,832 वोटों से भाजपा की प्रियंका टिबरेवाल को मात दी है। इस जीत के साथ ममता बनर्जी के लिए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने का खतरा भी टल गया है। तृणमूल कांग्रेस ने राज्य की तीनों विधानसभा सीटों पर उपचुनाव जीत लिया है। लाख कोशिशों के बावजूद भाजपा एक सीट नहीं जीत पाई।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भवानीपुर सीट पर शानदार जीत दर्ज की है। ममता बनर्जी के लिए ये सीट प्रतिष्ठा का विषय बना हुआ था। इस उपचुनाव में ममता बनर्जी को कुल 84,709 वोट मिले, बीजेपी की प्रियंका टिबरेवाल के खाते में 26,320 वोट मिले। जबकि सीपीएम के उम्मीदवार श्रीजीब को मात्र 4,201 वोट हासिल हुए हैं।

प्रियंका टिबरेवाल ने अपनी हार स्वीकार करते हुए कहा कि "मैं हार स्वीकार करतीं हूँ साथ ही ममता बनर्जी को जीत की बधाई देतीं हूँ।" टिबरेवाल ने चुनाव के दिन तृणमूल पर फर्जी वोट डलवाने का आरोप लगाई थीं।

भवानीपुर में जीत के बाद ममता बनर्जी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि वे इस जीत के लिए सभी को धन्यवाद देती हैं। ममता ने कहा कि भवानीपुर में 46 प्रतिशत गैर बंगाली वोटर हैं, सभी ने उन्हें वोट दिया है। ममता बनर्जी ने इस दौरान केंद्र पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इतने छोटे से विधानसभा क्षेत्र के लिए 3.5 हजार केंद्रीय बलों की तैनाती की गई, हमारे खिलाफ साजिश की गई। उन्होंने नंदीग्राम में मिली हार का जिक्र किया और कहा कि ये मामला कोर्ट में है इसलिए वो कुछ नहीं कहना चाहती हैं। लेकिन यहां क्या-क्या हुआ, इसे सभी ने देखा है।

बता दें कि इस सीट से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी साल 2011 और 2016 में जीत हासिल कर चुकी हैं। यह सीट तृणमूल का गढ़ माना जाता रहा है। इस साल अप्रैल-मई के विधानसभा चुनाव में भी यहाँ से तृणमूल उम्मीदवार शोभनदेव चटोपाध्याय मैदान में थे और उन्होंने करीब 29 हजार वोटों के अंतर से जीत हासिल की थी। लेकिन ममता के हार के बाद शोभनदेव ने इस्तीफा देकर मुख्यमंत्री के लिए यह सीट खाली कर दी थी।

Next Story

विविध

Share it