Top
बिहार

बिहार में बैंक लूटा और हिस्से में मिले पैसे से पत्नी का करा लिया बीमा

Janjwar Desk
2 Aug 2020 6:43 AM GMT
बिहार में बैंक लूटा और हिस्से में मिले पैसे से पत्नी का करा लिया बीमा

पटना पुलिस की गिरफ्त में बैंक लुटेरा

पटना के अनीसाबाद के पीएनबी बैंक में पिछले दिनों दिन-दहाड़े 52 लाख रुपये की लूट हुई थी। इस लूटकांड में गिरफ्तार आरोपी ने यह खुलासा किया है।

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बैंक में डकैती डाली और हिस्सेदारी के पैसे से पत्नी का करा दिया बीमा। कुछ पैसे से पत्नी के गिरवी रखे गहनों को छुड़ाया। पुलिस गिरफ्त में आए लुटेरे ने पूछताछ में यह खुलासा किया है।

पटना के अनीसाबाद स्थित पंजाब नेशनल बैंक में हुई 52 लाख की डकैती मामले में फरार एक लुटेरे अजीत को बेउर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस बैंक डकैती में अजीत की गिरफ्तारी सातवें अपराधी के रूप में सामने आई है। पुलिस ने उसके पास से एक लोडेड देशी कट्टा व घर से 90 हजार रुपये नगद बरामद किया है। गिरफ्तार अपराधी मूल रूप से वैशाली के महनार के कोरम पुर का रहने वाला है, लेकिन पटना में काफी सालों तक बुद्धाकोलोनी में रहता था और फिलहाल पटना के राजीव नगर में रह रहा था।

पुलिस गिरफ्तार लूटेरा अजीत की अपराधिक कुंडली खंगालने में भी जुट गयी है, क्योंकि पुलिस को पता चला है की यह पहले भी जेल जा चुका है। जेल से छूटने के बाद फल बेचने की आड़ में अपराधिक घटनाओ को अंजाम देने में लगा हुआ था। राजीव नगर में भी लोगों और पुलिस की आंखों में धूल झोंकने के लिए फल बेचने का काम करता था।

बेउर पुलिस के अनुसार पकड़े गये लुटेरे के पास से एक लोडेड देशी कट्टा, घर से 90 हजार नगद बरामद किया गया है। पूछताछ में लुटेरे ने बताया है कि लूट में मिले हिस्सेदारी के पैसों में से 34 हजार का पत्नी संजू देवी के नाम एलआईसी बीमा में जमा कराया और 13 हजार रुपये से पत्नी के गिरवी रखे जेवर छुड़ाए।

पूछताछ में उसने पुलिस को बताया है कि पीएनबी में 52 लाख डकैती में लूट की रकम में से सात लाख रुपये की हिस्सेदारी मिली थी, जिसमें से अभी तक डेढ़ लाख ही मिला था। उसने बताया है कि 47 हजार के अलावा बाकी रकम उसने इधर-उधर खर्च कर दिये।

वहीं हाल ही में बेउर इलाके से ही पुलिस ने इस कांड में शामिल छठे अपराधी आकाश की गिरफ्तारी की थी, तो उसने पुलिस टीम को बताया कि वह अपने साथी अजित की तलाश में आया था जिसके पास उसके हिस्से का बकाया एक लाख रुपया है। आकाश सच बोल रहा था या अजित झूठ बोल रहा है यह तो अनुसंधान के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा।

गिरफ्तार अपराधी अजित पहले बुद्धकोलोनी में परिवार के साथ रहता था। वहां से आपराधिक मामले में जेल भी जा चुका है। उसके बाद वहीं संजू से लव मैरिज करने के बाद घर छोडक़र फिलहाल राजीव नगर रोड नम्बर 24 में पत्नी संजू के साथ रह रहा था। बेउर थानेदार फूलचंद चौधरी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी अजीत के आपराधिक रिकॉड को खंगाला जा रहा है। पूछताछ के बाद उसे जेल भेज दिया गया। लुटेरे को गुप्त सूचना पर बेउर थाना पुलिस ने एनएच 30 बाईपास से गिरफ्तार कर लिया।

Next Story

विविध

Share it