Top
बिहार

बिहार के मधुबनी में दिव्यांग लड़की से हैवानियत, दरिंदों ने रेप कर दोनों आंखें फोड़ी

Janjwar Desk
13 Jan 2021 6:54 AM GMT
बिहार के मधुबनी में दिव्यांग लड़की से हैवानियत, दरिंदों ने रेप कर दोनों आंखें फोड़ी
x
पुलिस ने इस मामले में ग्रामीणों की सूचना पर एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। आरोपी ने अपनी पहचान छिपाने के लिए लड़की की आंखें फोड़ दी...

जनज्वार। सुशासन बाबू के नाम से राजनीति में जाने जाने वाले नीतीश कुमार के शासन वाले बिहार में दरिंदों ने क्रूरता की सारी सीमाओं को लांघते हुए एक घटना को अंजाम दिया। बिहार के मधुबनी जिले के हरलाखी थाना क्षेत्र के एक गांव में दरिंदों ने एक मूक बधिर लड़की से दुष्कर्म किया और उसके बाद उस बच्ची की दोनों आंखें फोड़ दी। गंभीर हाल में लड़की को इलाज के लिए मधुबनी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया।

दुष्कर्म करने के बाद आरोपियों ने लड़की की आंख इस वजह से फोड़ दी कि नेत्रहीन हो जाने के बाद में वह उसकी पहचान सुनिश्चि न कर सके। हालांकि लड़की की आंखे फोड़े जाने के वक्त आंखों से निकले खून की छींटे आरोपियों के कपड़े पर पड़ गए जिससे लोगों ने उनकी पहचान कर ली और उन्हें पकड़ लिया।

घटना के संबंध में लड़की के भाई ने कहा है कि मंगलवार (12-01-2021) को गांव के निकट नदी किनारे उसकी बहन बकरी को खिलाने के लिए पत्ता लाने गयी थी। इसी दौरान दरिंदों ने उसके साथ दुष्कर्म किया और आंखें फोड़ दी। जब देर तक पीड़िता घर वापस नहीं लौटी तो उसके परिजनों को चिंता हुई इसके बाद खोजबीन शुरू की तो वह नदी किनारे बेहोश पड़ी मिली।

लड़की के कपड़े फटे हुए थे और गुप्तांगों से खून निकल रहा था, जिससे यह स्पष्ट होता है कि दुष्कर्म के बाद उसके साथी ज्यादती की गयी। लड़की के भाई ने कहा कि उसकी बहन बोलने व सुनने में असमर्थ थी ऐसे में वह देखकर ही अपराधी को पहचान सकती थी और शायद इसी वजह से उसकी आंखें फोड़ दी गयी।

घटना के बाद गांव के एक लड़के के कपड़े व चेहरे पर खून के छींटे मिले जिसके बाद ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने इस मामले में लक्ष्मी मुखिया नामक शख्स को गिरफ्तार कर लिया और उससे पूछताछ कर रही है।

लड़की के साथ हुई इस नृशंसता के बाद उसे पहले स्थानीय पीएचसी ले जाया गया लेकिन वहां के डाॅक्टरों ने सदर अस्पताल ले जाने को कहा जिसके बाद परिवार वाले उसे मधुबनी सदर अस्पताल लेकर पहुंचे।

लड़की की आंखों के अब ठीक होने की संभावना कम है। लड़की पहले से ही मुंह और कान से दिव्यांग है। अब अगर उसकी आंखें ठीक नहीं होती हैं तो वह एक तीसरे तरह की निःशक्ता की शिकार हो जाएगी। नेत्र चिकित्सक डाॅ संजीव कुमार शर्मा ने लड़की की आंखों की जांच करने के बाद कहा है कि किसी नुकीली चीज से आंखें फोड़ी गयी है इसलिए प्रथमदृष्टया आंखें बेकार हो गयी हैं और उसके ठीक होने की संभावना कम है।

Next Story

विविध

Share it