Top
बिहार

मांगों को लेकर ट्रक ऑनर्स ने किया ट्रकों का चक्का जाम, सामानों की सप्लाई पर पड़ सकता है असर

Janjwar Desk
15 Sep 2020 2:30 AM GMT
मांगों को लेकर ट्रक ऑनर्स ने किया ट्रकों का चक्का जाम, सामानों की सप्लाई पर पड़ सकता है असर
x

File photo

ट्रकों की हड़ताल के कारण सड़कों पर ट्रकें कम दिखीं, सड़कें सूनी लग रही थीं, हालांकि कल हड़ताल का पहला दिन था, इसलिए सामानों की आपूर्ति पर इसका कोई खास असर देखने को नहीं मिला....

जनज्वार ब्यूरो, पटनाबिहार में ट्रक ऑनर्स एसोशिएसन ने हड़ताल कर दिया है। अपनी 20 सूत्री मांगों को लेकर इनलोगों ने ट्रकों का चक्का जाम कर दिया है। हड़ताल अगर लंबी खिंची तो सामानों की आपूर्ति पर इसका असर पड़ सकता है।

ट्रकों की हड़ताल के कारण सड़कों पर ट्रकें कम दिखीं। सड़कें सूनी लग रही थीं। हालांकि यह हड़ताल का पहला दिन था, इसलिए सामानों की आपूर्ति पर इसका कोई खास असर देखने को नहीं मिला।

परमिट, बीमा, लाइसेंस आदि के कागजातों की समय सीमा 31 मार्च 2021 तक बढ़ाए जाने सहित 20 सूत्री मांगों को लेकर एसोशिएसन ने इस अनिश्चितकालीन हड़ताल का आह्वान किया है। सोमवार हड़ताल का पहला दिन था और पहले दिन ही पूरी ट्रांसपोर्ट व्यवस्था पर इसका असर दिखने लगा था।

उधर समस्तीपुर में ट्रक एसोसिएशन के लोगों ने एनएच-28 पर उतरकर अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी की। इनका कहना था कि देश में इस कोरोना संक्रमण में भी माल ढोने में ट्रकों से जिस तरह काम लिया गया, उस तरह से सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई। बिहार की कई पुल-पुलिया को कमजोर बताकर इनपर ट्रकों का परिचालन बंदकर दिया गया, लेकिन ट्रकवालों से टैक्स लिया जा रहा है। सभी तरफ नो एंट्री लगा दिया गया है।

खनन विभाग की नीति से ट्रक मालिक अलग परेशान हैं। इन्हीं 20 सूत्री मांगों को लेकर बिहार ट्रक मालिक एसोसिएशन ने यह फैसला किया है कि 14 सितंबर से लेकर ट्रकों का परिचालन अनिश्चितकालीन के लिए बंद करेंगे। समस्तीपुर में तमाम सरकारी खाद्यान्न की ढुलाई सहित सभी ट्रांसपोर्टिंग व्यवस्था बंद कर दी गई है। इसका व्यापक असर दिख रहा है। जगह-जगह ट्रकों के पहिए थम गए हैं।

Next Story

विविध

Share it