बिहार

बिहार विधानसभा में पुलिस विधेयक के खिलाफ हुआ जमकर उपद्रव, पप्पू यादव बोले पुलिसिया नंगा नाच शुरू

Janjwar Desk
24 March 2021 5:19 AM GMT
बिहार विधानसभा में  पुलिस विधेयक के खिलाफ हुआ जमकर उपद्रव,  पप्पू यादव बोले पुलिसिया नंगा नाच शुरू
x
पप्पू यादव लिखते हैं कि 'बिहार विधानसभा में बिहार सशस्त्र पुलिस विधेयक पारित होने से पहले ही पुलिसिया नंगा नाच शुरू हो गया। जिस तरह से विधायकों को पीटा गया है। जबरदस्ती बिल पारित कराने की नंगई हुई है...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार की नीतीश सरकार में मंगलवार का दिन खासा गहमागहमी भरा रहा। सरकार की तरफ से पेश विशेष सशस्त्र विधेयक के खिलाफ विधायकों ने जमकर हंगामा किया। विधायकों ने सड़क से सदन तक सरकार का पुरजोर विरोध किया। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक सदन में विधायकों ने स्पीकर विजय सिंहा का चैंबर घेरकर उन्हें बंधक बनाने की कोशिश की। इस दौरान मार्शलों और विधायकों के बीच जमकर धक्का मुक्की हुई।

हंगामा कर रहे विधायकों को सदन से उठाकर बाहर फेंक दिया गया। सदन के अंदर स्टेट रैपिड एक्शन फोर्स बुलानी पड़ी। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सहित उनके साथी विधायकों और जवानो के बीच हाथापाई होने की बात भी सामने आ रही है। मंगलवार 23 मार्च को विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्षी विधायकों ने जमकर बवाल किया। जिसके बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई। दोपहर बाद तीन बजे कार्यवाही फिर शुरू हुई तो विधायकों ने विधानसभा सचिव की कुर्सी हटा दी।

इस मामले में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ट्वीट करते हुए लिखते हैं कि 'नीतीश कुमार जैसी अनैतिक राजनीति करने वाला C ग्रेड, बेशर्म और अलोकतांत्रिक मुख्यमंत्री पूरे देश में नहीं होगा। गुंडा सरकार के मुखिया देखिए कैसे 3 लाख लोगों द्वारा निर्वाचित विपक्षी माननीय विधायक को घसीटवा कर अपनी सरकार की गुंडई को प्रदर्शित करवा रहे है।#नीतीशकुमारशर्मकरो'

जनअधिकार पार्टी के मुखिया पप्पू यादव लिखते हैं कि 'बिहार विधानसभा में बिहार सशस्त्र पुलिस विधेयक पारित होने से पहले ही पुलिसिया नंगा नाच शुरू हो गया। जिस तरह से विधायकों को पीटा गया है। जबरदस्ती बिल पारित कराने की नंगई हुई है, वह नाकाबिले बर्दाश्त है। हम इस बिल के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट तक लड़ेंगे।'

मंगलवार को गोरिल्ला युद्ध जैसी चली बिहार विधानसभा में कई विधायक चोटिल हुए हैं। वहीं दूसरी तरफ बिहार सशस्त्र पुलिस बिल विधानसभा से पारित भी करा लिया गया। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिंहा ने कहा कि जिन लोगों ने सदन के भीतर हंगामा व तोड़फोड़ की है उनपर कार्रवाई होगी। वहीं नाराजगी जताते हुए नीतीश कुमार ने कहा है कि अगर कोई गलत करेगा तो बचेगा नहीं। दरअसल इस कानून के पारित होने के बाद पुलिस बिना वारंट किसी को भी गिरफ्तार कर सकती है, जिसका विपक्षी दल विरोध कर रहे थे।

Next Story

विविध

Share it