राष्ट्रीय

Fake Kidnapping Case : फर्जी अपहरण मामले में राष्ट्रीय राजमार्ग जाम करने वाले 168 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Janjwar Desk
19 Sep 2021 12:43 PM GMT
लड़की के कथित अपहरण के  बाद परिजनों ने गांववालों के साथ मिलकर किया था राष्ट्रीय राजमार्ग जाम
x

 (छात्रा को यूपी के गोण्डा जिले से बरामद कर लिया गया था)

Fake Kidnapping Case : पुलिस ने सड़क जाम के मामले में 168 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है जिनमें 18 लोग नामजद और 150 अज्ञात हैं....

Fake Kidnapping Case जनज्वार। दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएड (Greater Noida) के सादोपुर (Sadaupur) के झाल गांव की एक छात्रा का हाल ही में फर्जी अपहरण (Fake Kidnapping) का मामला आया था। अपहरण की सूचना के बाद लोगों ने राष्ट्रीय राजमार्ग 91 (जीटी रोड) पर जाम लगाया था। पुलिस ने इस मामले में 168 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है जिनमें 18 लोग नामजद और 150 अज्ञात हैं। इसमें छात्रा के परिजनों के नाम भी शामिल हैं।

उधर शनिवार 18 सितंबर को पुलिस ने छात्रा के कोर्ट में बयान दर्ज कराए। छात्रा ने घर जाने से इनकार किया है। कोर्ट के आदेश पर पुलिस छात्रा को उसके प्रेमी के घर गोंडा के लिए रवाना हो गई।

छात्रा स्वाति (Swati) बीएससी फाइनल ईयर (BSC Final Year) में पढ़ती है और नीट की परीक्षा की तैयारी कर रही है। 15 सितंबर को वह अपनी मर्जी से प्रेमी के साथ चली गई थी, उधर 16 सितंबर को परिजनों ने पुलिस को सूचना दी थी कि कार सवार बदमासों ने उनकी बेटी को अगवा कर लिया है। इसके बाद परिवार के लोगों ने गांववालों के साथ मिलकर सादोपुर की झाल के पास राष्ट्रीय राजमार्ग 91 (National Highway 91) पर जाम लगा दिया था।

इसके बाद पुलिस (Greater Noida Police) घटना स्थल पर पहुंची थी और लोगों को जांच का आश्वासन देकर समझा-बुझाकर जाम हटवा लिया था। इसके एक दिन बाद ही 17 सितंबर को पुलिस ने गुत्थी को सुलझा लिया था। पुलिस के मुताबिक छात्रा को यूपी के गोण्डा जिले से बरामद कर लिया गया। छात्रा अपनी मर्जी से प्रेमी के साथ 15 सितंबर को चली गई थी। इसके बावजूद घरवालों ने फर्जी अपहरण की सूचना दी थी।

छात्रा के कथित अपहरण के बाद एसपी गोंडा संतोष कुमार मिश्रा ने अलग-अलग चार टीमें बनाई थीं। एसओजी के साथ सर्विलांस, कोतवाली नगर व कोतवाली देहात पुलिस को सीओ सदर लक्ष्मीकांत गौतम के नेतृत्व में टास्क दिया गया था। पूरी रात छापा मारने के बाद पुलिस को सफलता मिली।

पुलिस के मुताबिक स्वाति सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक से अनिमेष के संपर्क में चार साल पहले आई थी। चैटिंग के जरिए दोनों में पहले दोस्ती हुई और फिर यह दोस्ती प्रेम संबंध में बदल गई। दोनों चैटिंग के जरिए एक दूसरे से लगातार बात करते रहे हैं। दोनों में बात होने बाद ही स्वाति गोंडा आ गई थी।

ग्रेटर नोएडा पुलिस ने छात्रा के कथित अपहरण के बाद जांच शुरू की तो स्वाति का बैंक अकाउंट खंगाला गया। छात्रा के बैंक अकाउंट में एक करोड़ रुपये डिपॉजिट पाए गए। पुलिस के मुताबिक स्वाति के परिजनों ने ग्रेटर नोएडा में पुश्तैनी जमीन बेची थीं। इससे मिले रुपयों को अकाउंट में जमा किया गया है।


नोएडा (सेंट्रल) के एसीपी-2 योगेंद्र कुमार ने बताया कि सड़क जाम करने के आरोप में बादलपुर कोतवाली पुलिस ने 18 नामजद और करीब 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। पुलिस वीडियो रिकॉर्डिंग के जरिए लोगों की पहचान करने की कोशिश कर रही है। पुलिस के मुताबिक इस मामले में जल्द ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

वहीं छात्रा को जब पुलिस ने शनिवार 18 सितंबर को डिस्ट्रिक्ट कोर्ट (District Court) में पेश किया। कोर्ट में छात्रा के 164 बयान दर्ज किए गए। कोर्ट में छात्रा ने बताया कि उसकी जान को खतरा है और सुरक्षा की मांग की गई। छात्रा के मुताबिक वह अपने प्रेमी के साथ ही रहना चाहती है। कोर्ट ने पुलिस को सुरक्षा के बीच प्रेमी के घर गोंडा (Gonda) छोड़ने के निर्देश दिए। इसके बाद पुलिस छात्रा को लेकर गोण्डा रवाना हो गई।

Next Story

विविध

Share it