Top
राष्ट्रीय

यूपी के शाहजहांपुर में दो मासूम बच्चों सहित पति-पत्नी ने लगाया मौत को गले, सुसाईड नोट में किया आर्थिक तंगी और कर्ज का जिक्र

Janjwar Desk
7 Jun 2021 5:22 PM GMT
यूपी के शाहजहांपुर में दो मासूम बच्चों सहित पति-पत्नी ने लगाया मौत को गले, सुसाईड नोट में किया आर्थिक तंगी और कर्ज का जिक्र
x

शाहजहांपुर में व्यापारी ने आर्थिक तंगी और कर्ज के चलते पूरे परिवार सहित किया सुसाईड.पत्र में लिखा मौत का कारण.

पुलिस अधीक्षक एस आनंद के साथ एसपी ग्रामीण संजीव कुमार बाजपेई समेत तमाम पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का मुआयना किया। फोरेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाए। घटनास्थल से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ। जिसमें अखिलेश ने आर्थिक तंगी का जिक्र किया है...

जनज्वार, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में आर्थिक तंगी और कर्ज में डूबे युवक ने अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ फांसी लगाकर जान दे दी। थाना कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कच्चा कटरा निवासी 43 वर्षीय अखिलेश गुप्ता मेडिकल दवाओं के थोक विक्रेता थे और सुमेर नर्सिंग होम, रमाकांत अस्पताल के पास गली में ही किराए की दुकान लेकर मेडिकल एजेंसी चलाते थे।

आज सोमवार 7 जून दोपहर लगभग 12 बजे अखिलेश गुप्ता, उनकी 40 वर्षीय पत्नी रेशू गुप्ता, 12 साल का बेटा शिवान और 6 वऱषीय बेटी हर्षिता का शव घर के अंदर अलग अलग कमरों में फांसी के फंदे पर लटका मिला। घटना की जानकारी तब हुई जब पड़ोसी सुशील कुमार ने किसी काम के लिए अखिलेश गुप्ता को फोन किया।

फोन रिसीव ना होने पर सुशील कुमार अखिलेश के घर पहुंचे। घर का मुख्य दरवाजा खुला हुआ था और दरवाजे में अंदर से एक स्टूल टिका था। उन्होंने अखिलेश को कई आवाजें दी, लेकिन घर के अंदर से कोई आवाज नहीं आई। सुशील ने घर के अंदर किसी तरह झांककर देखा तो उनके होश उड़ गए। जिसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी।

मौके पर पुलिस अधीक्षक एस आनंद के साथ एसपी ग्रामीण संजीव कुमार बाजपेई समेत तमाम पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का मुआयना किया। फोरेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाए। घटनास्थल से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ। जिसमें अखिलेश ने आर्थिक तंगी का जिक्र किया है। अखिलेश और उसकी पत्नी रिशु का शव एक कमरे में लटका मिला और बेटे शिवान तथा बेटी हर्षिता का शव अलग अलग कमरे में लटके मिले।

आशंका जताई जा रही है कि दंपति ने पहले अपने दोनों बच्चों को अलग-अलग फांसी पर लटकाया और उसके बाद खुद भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वहीं, पड़ोसियों का कहना है कि सुबह करीब दस बजे अखिलेश सब्जी आदि खरीद कर लाते हुए देखा गया। इसके बाद करीब साढ़े ग्यारह बजे घर के बाहर रोजाना की तरह अखिलेश ने दूध भी लिया था।

पड़ोसियों के अनुसार, अखिलेश ने कई लोगों से रुपया भी उधार ले रखा था। वो इन दिनो भारी कर्ज में डूबे हुए था। आर्थिक तंगी और कर्ज में डूबकर अखिलेश ने अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ सुसाइड कर लिया है।

पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने बताया कि अखिलेश गुप्ता ने अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। घटनास्थल पर एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें आर्थिक तंगी की बातें लिखी हैं। चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। साथ ही बाकी की जांच की जा रही है।

Next Story

विविध

Share it