राष्ट्रीय

Breaking News: लखीमपुर हिंसा के मामले में दो आरोपी गिरफ्तार, पुलिस कर रही छापेमारी

Janjwar Desk
7 Oct 2021 10:24 AM GMT
Breaking News: लखीमपुर हिंसा के मामले में दो आरोपी गिरफ्तार, पुलिस कर रही छापेमारी
x
Breaking News: गिरफ्तारी के कुछ घंटे पहले सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को यूपी सरकार को एक दिन के भीतर एक रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा कि मामले के संबंध में अब तक कितनी गिरफ्तारियां की गई हैं....

Breaking News जनज्वार। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) के तिकुनिया में हिंसा के मामले में गुरुवार को सुनवाई हुई। फिलहाल मामले को शुक्रवार तक के लिए टाल दिया गया है। इस बीच खबर है कि हिंसा के मामले पुलिस (UP Police) ने आशीष पांडे और लव कुश को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों से पूछताछ की जा रही है। घटना में कथित तौर पर शामिल आशीष पांडे और लव कुश घायल हुए थे।

खबरों के मुताबिक पुलिस को घटनास्थल से खाली कारतूस मिले हैं। इनकी फोरेंसिक जांच की जाएगी। वहीं पुलिस दूसरी ओर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) को छू तक नहीं पायी है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने कहा कि गिरफ्तार किए गए दोनों आशीष के करीबी सहयोगी हैं और अभी और छापेमारी की जा रही है। गिरफ्तारी के कुछ घंटे पहले सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को यूपी सरकार को एक दिन के भीतर एक रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा कि मामले के संबंध में अब तक कितनी गिरफ्तारियां की गई हैं।

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

इससे पहले सीजेआई जस्टिस एन.वी. रमना (CJI NV Ramana) के नेतृत्व में तीन जजों की बेंच ने लखीमपुर हिंसा को लेकर तल्ख टिप्पणी करते हुए यूपी सरकार से पूछा था कि अब तक इस मामले में कितने लोगों की गिरफ्तारी हुई है।

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा, "स्थिति रिपोर्ट में हमें मारे गए आठ लोगों किसान, पत्रकार आदि के बारे में बताएं। यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। हमें बताएं कि आपने किसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। आपने कितने को गिरफ्तार किया है।" सीजेआई रमना ने कहा, "शिकायत यह है कि आप उचित प्राथमिकी दर्ज नहीं कर रहे हैं और उचित जांच नहीं हो रही है। "

मीडिया को नहीं मिली इजाजत

वहीं केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष को लखीमपुर हिंसा के मामले आरोपी बनाए जाने के बावजूद अबतक गिरफ्तार नहीं किया गया है। गुरुवार की सुबह अजय मिश्रा जेल अधिकारियों के एक राष्ट्रीय सम्मेलन में शामिल हुए। इस आयोजन को कवर करने के लिए मीडिया को आमंत्रित किया गया था लेकिन बाद में उसे प्रवेश करने की इजाजत नहीं दी गई। इस आमंत्रण को इस आशंका के चलते वापस ले लिया गया कि कुछ पत्रकार केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी को लेकर सवाल कर सकते हैं।

विपक्ष के नेता अजय मिश्रा को पद से हटाने की मांग कर रहे हैं। अजय मिश्रा ने बुधवार 6 अक्टूबर को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

क्या था मामला

बता दें कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में किसानों के द्वारा रविवार 3 अक्टूबर को प्रदर्शन किया जा रहा था। तभी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र (Ajay Mishra) के बेटे आशीष ने कथित तौर पर वाहन प्रदर्शनकारी किसानों के ऊपर चढ़ा दिया। इस घटना में आठ लोगों समेत चार किसानों की मौत हो गई। इसके बाद आक्रोशित किसानों ने वाहनों को आग के हवाले कर दिया। वहीं दूसरी ओर इस घटना के बाद से विपक्ष सरकार पर हमलावर है।

Next Story

विविध

Share it