राष्ट्रीय

कोरोना प्रोटोकॉल खुद भूल गए योगी सरकार के राज्य मंत्री, सोशल मीडिया पर लोग उठा रहे सवाल

Janjwar Desk
16 Jun 2021 5:24 AM GMT
कोरोना प्रोटोकॉल खुद भूल गए योगी सरकार के राज्य मंत्री, सोशल मीडिया पर लोग उठा रहे सवाल
x
फोटो में दिख रही अत्यधिक भीड़ को देख अब लोग सवाल उठा रहे हैं कि प्रोटोकॉल का पालन करने का आग्रह करने वाले राज्य मंत्री जी स्वयं ही नियमों को भूल गए....

देवरिया से जितेंद्र उपाध्याय की रिपोर्ट

जनज्वार। उत्तर प्रदेश सरकार के मत्स्य, पशुधन एवं दुग्ध विकास राज्यमंत्री जय प्रकाश निषाद की एक तस्वीर को लेकर सोशल मीडिया पर खूब कॉमेंट हो रहा है। इस तस्वीर में वे कोई उद्घाटन करते नजर आ रहे हैं। जिनके अगल बगल व पीछे बडी संख्या में समर्थक खड़े हैं। सोशल मीडिया पर यह तस्वीर पोस्ट होने के बाद लोगों के खूब कमेंट आ रहे हैं । जिसमें लोगों ने सवाल उठाया है कि कोरोना को लेकर जारी प्रोटोकॉल का पालन करना राज्यमंत्री भूल जा रहे हैं तो आम नागरिकों का क्या होगा। जबकि संक्रमण से जिले में काफी अधिक संख्या में लोगों की जान जा चुकी है।

इस तस्वीर के संबंध में तहकीकात करने पर पता चला कि है यह देवरिया जिले के रुद्रपुर में बने कोविड हॉस्पिटल के उद्घाटन अवसर का है। योगी सरकार के ये राज्य मंत्री रुद्रपुर विधानसभा क्षेत्र से ही सदन में प्रतिनिधित्व करते हैं।


उत्तर प्रदेश के कोरोना संक्रमण से प्रभावित जिलों में देवरिया प्रमुख रहा है। इसमें भी जिले का रुद्रपुर क्षेत्र स्वास्थ्य प्रशासन के नजर में अत्यधिक प्रभावित रहा। तहसील क्षेत्र का मदनपुर गांव के तकरीबन 50 से अधिक लोगों की कोरोनाकाल में जान चली गई। इसमें से अधिकांश लोगों की मौत ऑक्सीजन समय पर न मिलने के चलते हुई थी। ग्रामीणों का कहना है कि इन सभी मृतकों में कोरोनावायरस लक्षण देखे गए थे। हालांकि प्रशासन मौत के आंकड़ों को लगातार छुपा रहा है। इस क्रम में रुद्रपुर तहसील क्षेत्र में भी अब तक कोरोना से मात्र 11 लोगों के मौत की प्रशासन ने पुष्टि की है।

फिलहाल मौत के सरकारी आंकड़े जो भी हो लेकिन प्रशासन की बढ़ती चिंता ने आखिरकार यहां कोविड अस्पताल खोलने की जरूरत महसूस की। इस कार्य में आगे बढ़ कर राज्य मंत्री जयप्रकाश निषाद ने अपने निधि से 20 लाल रुपए जिला प्रशासन को जारी किया। कोरोना की दूसरी लहर ठंढ पड़ने के बाद अब नवनिर्मित अस्पताल का उद्घाटन समारोह आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद रहे।


इस दौरान राज्य मंत्री ने लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने का आग्रह करते हुए कहा कि संक्रमण से बचने का यही एकमात्र उपाय है। जिसके तहत 2 गज की दूरी बनाए रखने व हमेशा मास्क पहनने तथा हाथ धुलते रहने की नसीहत दी।

इस आयोजन से संबंधित एक अखबार में प्रकाशित खबर व उसके फोटो में दिख रही अत्यधिक भीड़ को देख अब लोग सवाल उठा रहे हैं कि प्रोटोकॉल का पालन करने का आग्रह करने वाले राज्य मंत्री जी स्वयं ही नियमों को भूल गए। उनके उत्साहित कार्यकर्ता व ग्रामीण बड़ी संख्या में भीड़ के शक्ल में काफी देर तक एक साथ खड़े रहे। ऐसे में अगर भीड़ में एक भी व्यक्ति संक्रमित हो तो अन्य कितने को प्रभावित किया होगा इसका सही सही अनुमान नहीं लगाया जा सकता है।

सोशल मीडिया पर लोग खूब कर रहे कॉमेंट

कोविड अस्पताल के राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद द्वारा उद्घाटन की तस्वीर पर सोशल मीडिया पर खूब चर्चा हो रही है। आयोजन के दौरान उमड़ी भीड़ पर लोग खूब सवाल कर रहे हैं। फेसबुक पर कमेंट में मंटू बाबू जायसवाल लिखते हैं कि अंधेर नगरी चौपट राजा वाली कहावत चरितार्थ हो रही है । सवालिया लहजे में लिखते हैं इस पर कब कार्रवाई होगी? नवनीत अग्रवाल लिखते हैं समरथ को नहिं दोष गोसाई। इस क्रम में वरुण मिश्र प्रिंस ने अपने कमेंट में लिखा है, नियम जनता के लिए होता है ,माननीय के लिए नहीं। पवहारी शरण राय लिखते हैं,पर उपदेश कुशल बहुतेरे। लोकेश शरण तिवारी ने अपने कमेंट में लिखा, सच लिखने की हिम्मत। फेसबुक कमेंट बॉक्स में सत्य प्रकाश कुशवाहा ने लिखा, अति उत्साह में प्रोटोकॉल भूल गए मंत्री जी। इसके अलावा भी अन्य लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया बैक करते हुए कोरोना प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर नाराजगी व्यक्त की है।

Next Story

विविध

Share it