पंजाब

किसान आंदोलन से अर्थव्यवस्था के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा पर असर : कैप्टन अमरिंदर सिंह

Janjwar Desk
3 Dec 2020 8:30 AM GMT
किसान आंदोलन से अर्थव्यवस्था के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा पर असर : कैप्टन अमरिंदर सिंह
x

कैप्टन अमरिंदर सिंह. File Photo.

अमरिंदर सिंह के बयान पर आम आदमी पार्टी ने सवाल उठाया है कि क्या वह भी भाजपा की तरह किसानों को आतंकवादी समझती है...

जनज्वार। पंजाब के मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की। पिछले करीब 10 दिनों से चल रहे किसान आंदोलन के बीच यह सबसे अहम राजनीतिक मुलाकात है। इस मुलाकात के बाद कैप्टन अमरिंदर ने मीडिया से कहा कि उन्होंने गृहमंत्री से किसान आंदोलन का समाधान निकालने का आग्रह किया।

कैप्टन अमरिंदर ने मुलाकात के बाद कहा कि उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह से पंजाब में अपनी स्थिति दोहरायी है और कहा है कि जल्द इसका कोई हल निकालना चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे अर्थव्यवस्था व राष्ट्रीय सुरक्षा पर असर पड़ रहा है।


कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान पर पंजाब की राजनीति में लगातार जड़े जमाने की कोशिश कर रही आम आदमी पार्टी ने कटाक्ष किया है और ट्वीट कर पूछा है कि क्या भाजपा की तरह कैप्टन अमरिंदर सिंह भी किसानों को आतंकवादी समझते हैं जो किसानों को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बता रहे हैं। इससे पहले आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि कैप्टन के पास बिल रोकने के कई मौके आए, लेकिन तब उन्होंने उस बिल को क्यों नहीं रोका। वे खुद इस बिल को बनाने के लिए बनायी गई कमेटी में शामिल थे।


अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि कैप्टन के परिवार पर इडी का केस चल रहा है, क्या इसी वजह से उन पर दबाव है। उनहोंने कहा कि था कि इडी का नोटिस भी उनके परिवार के पास आ रहा है। केजरीवाल ने कहा था कि मुख्यमंत्री कांग्रेस का और उनकी बोली भाजपा की है।

उधर, हरियाणा के मुख्यमंत्री व भाजपा नेता मनोहर लाल खट्टर ने शुरुआत में यह आरोप लगाया था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह किसानों को आंदोलन के लिए भड़का रहे हैं, जिस पर कैप्टन ने कड़ी आपत्ति जतायी थी और कहा था कि वे उनसे अब बात नहीं करेंगे और न ही उनके पत्र का जवाब देंगे।

Next Story

विविध

Share it