गवर्नेंस

Railway News : डेढ़ साल तक ज्यादा वसूली के बाद अब कोरोना के पहले वाली व्यवस्था होगी बहाल, पुराने किराए पर कर सकेंगे यात्रा

Janjwar Desk
12 Nov 2021 4:46 PM GMT
Railway News : डेढ़ साल तक ज्यादा वसूली के बाद अब कोरोना के पहले वाली व्यवस्था होगी बहाल, पुराने किराए पर कर सकेंगे यात्रा
x

(रेलवे ने अब कोरोना के पहले वाली व्यवस्था लागू करने का फैसला किया है) File pic.

Railway News : कोरोना काल में स्पेशल ट्रेन के नाम पर लगभग डेढ़ साल तक यात्रियों से बढा हुआ किराया वसूलने के बाद अब रेलवे ने राहत देने का फैसला किया है।

Railway News : कोरोना काल (Corona period) में स्पेशल ट्रेन (Special Trains) के नाम पर लगभग डेढ़ साल तक यात्रियों से बढा हुआ किराया वसूलने के बाद अब रेलवे (Indian Rail) ने राहत देने का फैसला किया है। कोविड19 को देखते हुए रेलवे रेगुलर मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों (Mail and Express Trains) को स्पेशल ट्रेनों के तौर पर चला रहा था।

लेकिन अब इन ट्रेनों का फिर से सामान्य परिचालन बहाल करने का फैसला किया गया है। यानी मेल, एक्सप्रेस, स्पेशल और हॉलिडे स्पेशल ट्रेनों की सेवा अब रेगुलर ट्रेनों (Regular Trains) के जैसी होगी।

ये ट्रेनें फिर से रेगुलर नंबर के साथ दौड़ेंगी। साथ ही स्पेशल किराए की वसूली नहीं होगी, अर्थात फिर से कोरोना काल के पहले वाला पुराना रेगुलर किराया लागू होगा।

इसे लेकर शुक्रवार, 12 नवंबर की रात रेलवे बोर्ड ने एक सर्कुलर (Railway issued circular) जारी किया है। जारी सर्कुलर के मुताबिक, ट्रेनों के प्रकार और यात्रा को लेकर नए दिशा-निर्देशों के साथ नियमित किराए का संचालन किया जाएगा। ऐसी ट्रेनों की दूसरी श्रेणी विशेष मामले में किसी भी छूट को छोड़कर आरक्षित के रूप में चलती रहेगी।

रेलवे के एक अधिकारी ने कहा, इन स्पेशल ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों को 30% अतिरिक्त किराए का भुगतान करना होगा। कोविड के मामले नियंत्रण में होने के साथ मंत्रालय ने शुक्रवार की बैठक में प्री-कोविड (कोरोना से पहले) ट्रेनों के अनुसार ट्रेनों को फिर से शुरू करने का फैसला किया है।

बता दें कि कोविड-19 महामारी से पहले लगभग 1700 मेल एक्सप्रेस ट्रेनें चल रही थीं लेकिन महामारी के कारण इन ट्रेनों का संचालन रोकना पड़ा था।

जब से कोविड-19 महामारी ने देश को प्रभावित किया है, तब से भारतीय रेलवे पूरे देश में पूर्ण आरक्षण के साथ विशेष ट्रेनों का संचालन कर रहा है। इन विशेष ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों को सामान्य ट्रेनों की तुलना में 30 प्रतिशत अतिरिक्त किराया देना पड़ता था।

उल्लेखनीय है कि कोविड19 को देखते हुए देश में 25 मार्च 2020 से ट्रेनों की सर्विस अस्थायी तौर पर रोक दी गई। कोविड19 के चलते 166 सालों में पहली बार ऐसा हुआ, जब भारतीय रेल के पहिये थमे। हालांकि इस दौरान ट्रेन से माल की आवाजाही चालू रही, केवल यात्री ट्रेनें बंद हुईं।

इसके बाद मई 2020 से पहले श्रमिक स्पेशल ट्रेनों और बाद में स्पेशल ट्रेनों के रूप में भारतीय रेल ने फिर से दौड़ना शुरू किया। रेगुलर ट्रेनों के नंबर में बदलाव कर उन्हें स्पेशल ट्रेनों के रूप में संचालित किया गया। स्पेशल ट्रेनों के लिए स्पेशल किराया लागू किया गया।

Next Story

विविध

Share it