शिक्षा

Ranchi Matric Results : रांची हिंसा में पुलिस की गोली से मारा गया छात्र मुद्दसीर दसवीं में फर्स्ट डिविजन पास

Janjwar Desk
21 Jun 2022 3:15 PM GMT
Ranchi Matric Results : रांची हिंसा में पुलिस की गोली से मृतक छात्र मैट्रिक परीक्षा में पास
x

Ranchi Matric Results : रांची हिंसा में पुलिस की गोली से मृतक छात्र मैट्रिक परीक्षा में पास 

Ranchi Matric Results : मुद्दसीर रांची के पुंदाग स्थित लिटिल एंजेल्स हाई स्कूल चारघरवा का छात्र था। मैट्रिक परीक्षा के जो परिणाम आए हैं उसमें मुद्दसीर को 5 विषयों के कुल 500 अंकों में 333 अंक प्राप्त हुए हैं...

Ranchi Matric Results : रांची में ​हिंसा के दौरान मारा गया छात्र मुद्दसीर आलम को 10वीं की मैट्रिक की परीक्षा में 66.66 प्रतिशत अंक मिले हैं। आपको बता दें कि मृतक मुद्दसीर ने इसी साल मैट्रिक की परीक्षा दी थी। मंगलवार 21 जून को घोषित किए गए मैट्रिक के परीक्षा परिणाम में मोदस्सिर फर्स्ट डिवीजन से परीक्षा पास कर गया है।

आपको बता दें कि 16 साल का मुद्दसीर आलम की बीते 10 जून को रांची में हुई हिंसा के दौरान गोली लगने से मौत हो गयी थी। दरअसल, मुद्दसीर प्रदर्शनकारियों की उस भीड़ में शामिल था जो भाजपा प्रवक्ता नुपूर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए आपत्तिजनक बयान के विरोध में निकाली गयी थी। प्रशासन की ओर से कहा गया है कि पुलिस पर इन्हीं प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी की थी। इसी दौरान हुई गोलीबारी में गोली लगने से मुद्दसीर की मौत हो गयी थी।

मुद्दसीर रांची के पुंदाग स्थित लिटिल एंजेल्स हाई स्कूल चारघरवा का छात्र था। मैट्रिक परीक्षा के जो परिणाम आए हैं उसमें मुद्दसीर को 5 विषयों के कुल 500 अंकों में 333 अंक प्राप्त हुए हैं। उसे अंग्रेजी में 71, हिंदी में 64, उर्दू में 70, विज्ञान में 60, सामाजिक विज्ञान में 68 जबकि गणित में 53 अंक प्राप्त हुए हैं।

रांची में भड़की हिंसा के मृतक 16 साल का मुद्दसीर आलम के पिता परवेज आलम रांची शहर के हिंदपीढ़ी स्थित किराए के मकान में रहते हैं। रांची में हुई हिंसा में मुद्दसीर आलम की मौत के बाद उसके चाचा मोहम्मद शाहिद अय्यूबी ने कारवां मैगजीन से बातचीत में बताया था कि उसका दसवीं का रिजल्ट आने वाला है। घटना के दिन रोजाना की तरह वह अपने पापा की मदद करने के लिए उस दिन भी ठेला गाड़ी के साथ गया था।

उन्होंने बताया था कि "जब जुलूस डेली मार्केट के पास आया तो भीड़ काफी थी। अफरातफरी का माहौल था। भीड में वह कब चला गया, उसके वालिद को पता ही नहीं चला। पथराव और गोलीबारी हो रही थी। सब लोग जान बचा कर भाग रहे थे लेकिन मेरा भतीजा गोली का शिकार हो गया। उसके सिर पर गोली लगी थी। पुलिस लोगों पर ऐसे गोली चला रही थी, जैसे वे आंतकवादी या उग्रवादी हों।

आपको बता दें कि इस बार झारखंड की मैट्रिक परीक्षा में 95.6 प्रतिशत विद्यार्थी पास घोषित किए गए हैं।

Next Story