Top
जनज्वार विशेष

खान सर आखिरकार निकले यूपी के फैसल खान, अमित सिंह के चक्कर में कट्टरपंथियों ने काटा था बवाल

Janjwar Desk
1 Jun 2021 1:39 PM GMT
खान सर आखिरकार निकले यूपी के फैसल  खान, अमित सिंह के चक्कर में कट्टरपंथियों ने काटा था बवाल
x

(देसी अंदाज में सामान्य ज्ञान विषय को समझाने वाले 'खान सर' के नाम को लेकर व‍िवाद एक माह तक सुर्ख‍ियों में रहा)

खान सर के नाम को लेकर शुरु चर्चा के बीच आखिरकार उनका मूल निवास भी मीडिया रिपोर्ट के अनुसार खोज निकाला गया है। जिसकी पुष्टि पटना व भाटपार रानी के दोस्तों व टीचर ने की है.....

जितेंद्र उपाध्याय की रिपोर्ट

जनज्वार ब्यूरो। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में लगे युवाओं के लिए कल तक खान सर की सामान्य ज्ञान संबंधित विषयों का वीडियो पहली पसंद थी। अचानक पाकिस्तान में एक प्रदर्शन के दौरान बच्चों के हिस्सा लेने संबंधित वीडियो पर खान सर की टिप्पणी ने कंगना रनौत का मेल वर्जन करार दिया जाने लगा। धर्म विशेष के खिलाफ टिप्पणी करने का आरोप लगाने वालों ने उनका असली नाम अमित सिंह होने का दावा तक कर दिया।

इस बीच खुदा का शुक्र है कि यूट्यूबर खान सर का असली नाम फैसल खान निकला, जो उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के रहने वाले हैं। इसकी पुष्टि उनके दोस्तों व टीचर ने की है, जिसके बाद वे संप्रदाय विशेष के निशाने से अब भले ही बच जाएं पर अफसोस की बात यह है कि हमारे समाज में सांप्रदायिक विवाद ने इतनी जड़ जमा चुकी है कि कुछ लोगों के नजरों में आपका काम नहीं नाम ही बोलता है।

खान सर को लेकर मौजूदा वक्त में शुरू हुए बहस पर चर्चा करने के पहले शेक्सपियर के उस प्रसंग की बात करते हैं । शेक्सपियर ने अपने एक प्रसिद्ध नाटक (रोमियो और जूलियट) में लिखा है कि नाम में क्या रखा है? गुलाब को कोई भी नाम दो वह उतनी ही मीठी खुशबू देता है। लेकिन यहां तो नाम बड़े मायने रखते हैं। कई बार तो यह बहुत अजीबो-गरीब या आश्चर्यजनक संयोग भी खड़े कर देता है। कई बार नाम के कारण लोग मुसीबत में भी पड़ जाते हैं। ऐसा ही कुछ मामला है बिहार के पटना वाले खान सर का। उनका काम समाज को भले ही खुशबू दे रहा हो पर कुछ लोगों को उनके नाम से ही मतलब है।

(खान सर का पटना स्थित कोचिंग संस्थान)

देसी अंदाज में सामान्य ज्ञान विषय को समझाने वाले 'खान सर' के नाम को लेकर व‍िवाद एक माह तक सुर्ख‍ियों में रहा। 24 अप्रैल को उनके द्वारा डाले गए एक वीडियो के बाद, जिसमें उन्होंने पाकिस्तान में फ्रांस के राजदूत को देश से वापस भेजने के लिए हो रहे विरोध प्रदर्शन की मिस्ट्री समझाई। उन्होंने इस वीडियो में बच्चों की तस्वीर का जिक्र करते हुए जो टिप्प्णी की, उसे लेकर विवाद शुरू हुआ। इसके बाद से ही उनके नाम पर भी चर्चा होने लगी। उनका नाम खान सर या अमित सिंह?

ट्विटर पर खान सर की एक वीडियो क्लिप कुछ लोगों ने खोज निकाला। इसमें वो कह रहे हैं कि उनका असली नाम खान नहीं, बल्कि अमित सिंह है। वीडियो में वो कह रहे हैं कि मेरा 'खान सर' नाम नहीं है। यह एक जुगाड़ का नाम है जबकि ऐसे लोग हमको अमित सिंह कहकर बुलाते हैं। इसी वीडियो का हवाला देते हुए लोगों ने ट्रोल करना शुरू कर दिया।

यह है पाकिस्तान के बच्चों से जुड़ी वीडियो का संदर्भ, जिसको लेकर बढ़ा विवाद

पाकिस्तान-फ्रांस के मसले पर उनका 24 अप्रैल को यूट्यूब पर अपलोड किया गया वीडियो वायरल हुआ है। पाकिस्तान में फ्रांस के राजदूत को वापस भेजने पर प्रदर्शन हुआ था और उसी सिलसिले पर उन्होंने एक वीडियो बनाया था। खान सर अपने वीडियो में दावा करते हैं कि इस प्रदर्शन में बच्चे भी शामिल हुए थे और इसी घटना पर उन्होंने देसी लहजे में टिप्पणी की थी।

पाकिस्तानी बच्चों की तस्वीर की ओर इशारा करते हुए वायरल वीडियो में खान सर कहते हैं, 'ई रैली में ये बेचारा बचवा है। इसको क्या पता है कि राजदूत क्या चीज होता है। कोई पता नहीं है। लेकिन फ्रांस को राजदूत को बाहर ले जाएंगे। देखिए इसको। इनको कुछ पता नहीं है। बाबू लोग, तुम लोग पढ़ लो। अब्बा के कहने पर मत आओ। अब्बा तो पंचर साट ही रहे हैं। ऐसा ही तुम लोग भी करेगा तो बड़ा होकर तुम लोग भी पंचर साटेगा। तो पंचर मत साटो वरना तुमको तो पता ही है कि कुछ नहीं होगा तो चौराहा पर बैठकर मीट काटेगा तुम। बकलोल कहीं का। बताइए, ये उमर है बच्चों को यहां पर लाने का? बैनर से छोटा बेचारा तो ये है।'

लोगों ने कहा कि एक धर्म-विशेष के खिलाफ टिप्पणी करते हैं और 18-20 बच्चों के पैदा करने का हवाला देते हैं। दरअसल, खान सर इसी वीडियो में फ्रांस और पाकिस्तान के बीच बनते-बिगड़ते रिश्तों को समझाते हैं। मगर उनके समझाने का जो तरीका है, उसे लेकर ही एक तबके के लोग उन पर हमलावर हैं। जैसे ही यह वीडियो वायरल हुआ लोग इसे धर्म विशेष से जोड़कर लिखने लगे। एक व्यक्ति ने तो कंगना रनौत मेल वर्जन तक करार दिया। हालांकि, कुछ लोगों ने खान सर के पक्ष में भी अलग-अलग है शटैग से ट्रेंड करवाया।

देवरिया के भाटपार रानी के रहने वाले हैं खान सर

खान सर के नाम को लेकर शुरु चर्चा के बीच आखिरकार उनका मूल निवास भी मीडिया रिपोर्ट के अनुसार खोज निकाला गया है। जिसकी पुष्टि पटना व भाटपार रानी के दोस्तों व टीचर ने की है। पटना के दोस्त महेंद्र सागर ने उनका निवास बताया तो उनके भाटपार रानी कस्बे में चर्चा शुरु हो गई। महेंद्र सागर ने बताया क‍ि वह चार साल से खान जीएस रिसर्च सेंटर पटना में पढ़ा रहे हैं। खान सर का नाम फैसल खान है।ज‍िस ब‍िल्ड‍िंग में यह सेंटर है, उसके माल‍िक के पास सारे डॉक्यूमेंट हैं ज‍िसमें उनका असली नाम ल‍िखा है। भाटपार रानी कस्बे में डिग्री कालेज के समीप बापू विद्यालय रोड पर उनका मकान है। जहां उनकी मां, पिता व दो छोटे भाई रहते हैं।

(परमार मिशन स्कूल, जहां खान सर ने ली थी स्कूली शिक्षा)

भाटपाररानी के परमार म‍िशन स्कूल से हाईस्कूल पास करने वाले सलीम अली ने बताया क‍ि मैंने और खान सर ने इसी स्कूल से हाईस्कूल पास किया है। उनका नाम फैसल खान है और यह भाटपाररानी के ही मूल न‍िवासी हैं। इस स्कूल में हमने साथ में ही पढ़ाई की है। वह शुरू से ही मजाक‍िया क‍िस्म के है। उनका नाम अम‍ित स‍िंह नहीं बल्क‍ि फैसल खान ही है।

हार्ट बीट नाम से रेस्टॉरेंट चलाने वाले शख्स ने बताया क‍ि जब भी खान सर यहां आते हैं तो उनके ही रेस्टोरेंट में खाना खाने आते हैं। उन्हें व‍िशेष रूप से बर्गर पसंद है। प‍िछली बार के लॉकडाउन में उनका यहीं स्टूड‍ियो हुआ करता था और वह वहीं से ऑनलाइन क्लास लेते थे। उनके एक नरेश नाम के म‍ित्र हैं, उनके यहीं टोटल एड‍िट‍िंग और म‍िक्स‍िंग होती थी।

डीएस मॉडल कोच‍िंग सेंटर में उनके साथ पढ़ने वाले एक युवक ने बताया क‍ि डीएस कोच‍िंग में फ‍िज‍िक्स और मैथ की पढ़ाई होती थी। हमने इस कोच‍िंग में इंटर क्लास के समय पढ़ाई की थी। तब खान सर हमारे साथ ही इस कोच‍िंग में पढ़ते थे।

(पूनम परमार, प्रधानाचार्य परमार मिशन स्कूल, यही से खान सर ने ली थी स्कूली शिक्षा)

भाटपाररानी में परमार मिशन स्कूल की प्र‍िंसिपल पूनम परमार ने बताया क‍ि खान सर के दादा इसी स्कूल में पढ़ाते थे और खान सर भी यहां पढ़े हैं। बचपन में वह सामान्य से स्टूडेंट थे, शायद सातवीं या आठवीं तक वह यहां पढ़े हैं। उनका बचपन में नाम फैसल था। अब उन्होंने यही नाम रखा है दूसरा यह हमें नहीं मालूम। उनकी अम्मी से भी हमने बात की तो उन्होंने कहा क‍ि खान सर ही अपने फैसल खान हैं।

मीडिया के सामने आने से बच रहे परिवार के सदस्य

फैसल खान के नाम को लेकर शुरु हुई चर्चा व आरोप प्रत्यारोप के बाद उनके परिवार के सदस्य मीडिया के सामने आने से बच रहे हैं। पिता बसीर खान कहते हैं कि अगले 10 दिनों के अंदर जो कुछ कहना होगा खुद खान सर आपलोगों से बताएंगे।वे कहते हैं कि खान सर अमेरिका में आयोजित व्याख्यान में हिस्सा लेने वाले हैं। हालाकि इसको लेकर वे अमेरिका जाएंगे या वर्चुअल हिस्सेदारी लेंगे यह वे नहीं बताते हैं। उनके पड़ोसियों की माने तो खान सर इस समय भाटपार में अपने घर पर मौजूद है। लेकिन इसके बावजूद आम जन या मीडिया से दूर रहने के संदर्भ को लेकर लोग अलग-अलग कयास लगा रहे हैं।

(सलीम खान, खान सर के स्कूली मित्र)

खान सर के पिता के खिलाफ थाने में शिकायत

खान सर की पहचान बताने से नाराज उसके पिता बसीर खान ने सलीम को धमकी दी है। सलीम ने भाटपार रानी थाने में दी गई तहरीर में कहा है कि अपने दोस्त खान सर के बारे में मीडिया वालों के पूछने पर हमने स्कूली जीवन के बारे में जानकारी दी थी। इससे नाराज होकर खान सर के पिता बसीर खान ने मेरे दरवाजे पर आकर कहा कि तुमने मीडिया को क्यों बताया? साथ ही सबक सिखाने की धमकी भी दी। इस संबंध में बसीर खान का पक्ष जानने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका।

Next Story

विविध

Share it