राष्ट्रीय

योगी के आगमन पर नजरबंद किये जाने से नाराज सपा विधायक ने मुंडन करवाकर जताया विरोध

Janjwar Desk
22 May 2021 12:57 PM GMT
योगी के आगमन पर नजरबंद किये जाने से नाराज सपा विधायक ने मुंडन करवाकर जताया विरोध
x

(विधायक अमिताभ वाजपेई ने सीएम योगी को बताया चापलूसी पसंद, विरोध में कराया मुंडन)

विधायक ने पत्रकारों को बताया कि भाजपा सरकार सत्ता के नशे में चूर है। जनता की जन समस्याएं और दर्द इन्हें नहीं दिख रहा है....

जनज्वार/कानपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कानपुर आगमन से पहले विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के जनप्रतिनिधियों एवं नेताओं को जिला प्रशाशन द्वारा उनके घरों में ही नजरबंद कर दिया गया। नेताओं के घरों के बाहर संबंधित थानों की फोर्स तैनात कर दी गई साथ ही कहा गया कि आप लोग घरों में ही रहें।

काकादेव, आरएस पुरम स्थित विधायक अमिताभ बाजपेई के निवास पर आज सुबह से ही पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। कई बड़े अधिकारियों ने विधायक से मुलाकात कर उनसे कहा कि आप घर पर ही रहें।

विधायक ने पत्रकारों को बताया कि भाजपा सरकार सत्ता के नशे में चूर है। जनता की जन समस्याएं और दर्द इन्हें नहीं दिख रहा है। जनमानस की समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री को शहर की जमीनी हकीकत हमें बताना है, लेकिन चापलूसी के सिवा सीएम कुछ नहीं सुनना चाहते हैं। जनप्रतिनिधियों का कर्तव्य है कि वह जनता की आवाज मुख्यमंत्री तक पहुंचाएं, इसके लिए हम लोग ज्ञापन देकर उनसे मिल सकते हैं और अपनी बात बताने का अधिकार है।

विधायक अमिताभ बाजपेई ने कहा कि हमें जनता ने चुना है, हम किसी के रहमो-करम पर विधायक नहीं बने हैं। तीन बजे केडीए सभागार में समीक्षा बैठक होनी है। तय समय पर हम वहां पहुंचेगे और अपनी बात रखेंगे। तय समय के अनुसार जब 3 बजे विधायक निकले तो उनके निवास पर तैनात पुलिस बल ने उन्हें रोक लिया।


विधायक ने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल के कारण हम प्रशाशन के लोगों से उलझना नहीं चाहते लेकिन हम अपना विरोध प्रदर्शन गांधीवादी तरीके से करेंगे। अमिताभ बाजपेई ने सीएम योगी को चापलूसी पसंद सीएम बताते हुए विरोध स्वरूप मुंडन करवाया। मुंडन करवाने के बाद योगी के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

आज शनिवार शहर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैलीकॉप्टर से चकेरी एयरपोर्ट पर उतरने के बाद सीएम सर्किट हाउस के लिए रवाना हो गए। यहां जिला प्रशासन और स्वास्थ्य अधिकारियों संग बैठक करके कोरोना से उपजे हालातों की समीक्षा करेंगे। साथ ही कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए किए गए इंतजामों को भी परखेंगे। सीएम हैलट, उर्सला या किसी कोविड हॉस्पिटल और कोविड कमांड सेंटर का भी निरीक्षण कर सकते हैं।

Next Story

विविध

Share it