Top
राष्ट्रीय

लालू यादव से मिल भावुक हुए तेजस्वी, पिता की गिर रही सेहत से दिखे परेशान

Janjwar Desk
19 Dec 2020 1:30 PM GMT
लालू यादव से मिल भावुक हुए तेजस्वी, पिता की गिर रही सेहत से दिखे परेशान
x

File photo

लालू यादव की किडनी के 25 फीसदी काम करने पर चिंता जाहिर करते हुए तेजस्वी ने कहा कि हमलोगों ने देश के कई बड़े डॉक्टरों से इसकी चर्चा की है..

जनज्वार ब्यूरो/पटना। लालू प्रसाद यादव से आज उनके पुत्र और बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने मुलाकात की। रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती लालू यादव से तेजस्वी के साथ संजय यादव और मदन कुमार ने भी मुलाकात किया। तेजस्वी ने पिता से मिलकर घर परिवार की बातों को शेयर किया। साथ ही उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली।

पिता से मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा 'सबको पता है, लालू प्रसाद यादव की किडनी 25 फीसदी ही काम कर रही है। चुनाव के बाद पहली बार मैंने उनसे मुलाकात की है। करीब 4- 5 महीने हो गए मुलाकात किए हुए, शनिवार को मुलाकातियोँ का दिन होता है, इसलिए हमलोगों ने मुलाकात कर उनका हालचाल जाना।'

लालू यादव की किडनी के 25 फीसदी काम करने पर चिंता जाहिर करते हुए तेजस्वी ने कहा कि हमलोगों ने देश के नामी डॉक्टरों से इसकी चर्चा की है। उन सभी से आग्रह किया है कि लालू यादव की स्थिति को आकर देखें। ताकि उनकी स्थिति में सुधार हो सके। हमारी चिंता है कि लालू यादव की कहीं डायलिसिस न करना पड़े।

इस दौरान तेजस्वी यादव ने केंद्र की मोदी सरकार और बिहार की नीतीश सरकार दोनों पर निशाना साधा। तेजस्वी ने कहा कि एलआईसी, बीएसएनएल समेत कई सरकारी कंपनियों का प्राइवेटाइजेशन कर दिया गया।

देश के किसानों के आंदोलन को लेकर केन्द्र सरकार से अड़ियल रवैया त्यागने की अपील करते हुए तेजस्वी ने कहा कि अन्नदाता की बातों की अनदेखी की जा रही है। उनके साथ अन्याय किया जा रहा है। बिहार से तो पहले ही एपीएमसी खत्म कर किसानों को कमजोर कर दिया गया। बिहार झारखंड के किसानों में इतनी हिम्मत नहीं रह गयी है कि किसान आंदोलन का समर्थन कर सके।

वहीं बिहार सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि बिहार में चोर दरवाजे से सरकार बनी है। जनता ने जनादेश दिया और चुनाव आयोग ने अपना नतीजा सुनाया। पिछले एक महीने के बिहार को देखा जाए तो दिनदहाड़े हत्या हो रही है, रंगदारी मांगी जा रही है। पूरी तरीके से सरकार फेल नजर आ रही है। जो चुनाव के समय हम लोग कहा करते थे कि सरकार थक चुकी है, अब दिख रहा है कि वाक़ई में नीतीश सरकार थकी हुई है।

Next Story

विविध

Share it